हरिद्वार : रुड़की में वकील को घर में घुसकर बदमाशों ने मारी गोली, चार लोगों पर हत्या का मुकदमा दर्ज

हरिद्वार, तीर्थनगरी हरिद्वार के रुड़की में कोरोना काल में बेखौफ बाइक सवार बदमाशों ने बुधवार देर रात घर में घुसकर वकील की गोली मारकर हत्या कर दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर रात में ही पोस्टमार्टम के लिए भेजने के बाद मामले की जांच शुरू कर दी थी। वहीं, बृहस्पतिवार को पुलिस ने मामले में वकील की पहली पत्नी समेत चार लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है।

मूल रूप से मंगलौर के टांडा भनेड़ा और हाल गंगनहर कोतवाली क्षेत्र स्थित पुरानी तहसील निवासी वकील राव उस्मान की बुधवार देर रात करीब 12.30 बजे बदमाशों ने घर में घुसकर कनपटी पर गोली मारकर हत्या कर दी थी। गोली की आवाज सुनकर पत्नी अंजुम और आसपास के लोग घटनास्थल की तरफ दौड़े। लोगों को आता देख बदमाश फरार हो गए थे। एसपी देहात प्रमेंद्र डोबाल ने मौके पर पहुंचकर घटना की जानकारी ली थी।

 

साथ ही पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल भेज दिया था। एसपी देहात प्रमेंद्र डोबाल ने बताया कि मृतक के भाई लुकमान निवासी टांडा भनेड़ा की ओर से बृहस्पतिवार को तहरीर दी गई। इसमें वकील की पहली पत्नी गुलशन आरा समेत डॉ. साबिर रहमान और उसकी पत्नी मरियम निवासी, रुड़की, सैय्यद बिलाल उर्फ सैंकी पर हत्या का आरोप लगाया है। आरोप है कि उक्त लोग उनके भाई से रंजिश रखते थे। पहले भी उक्त लोगों ने भाई के साथ मारपीट की थी। एसपी देहात ने बताया कि चारों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर लिया है। साथ ही पुलिस गिरफ्तारी के लिए संभावित ठिकानों पर दबिश दे रही है।

पुलिस के अनुसार, राव उस्मान का पहली पत्नी गुलशन आरा से तलाक हो गया था। इसके बाद उन्होंने अंजुम से दूसरी शादी की थी। अंजुम के शादी से पहले दो बच्चे मरियम और बिलाल थे। मरियम की शादी डॉ. साबिर रहमान से हुई है। बताया जा रहा है कि प्रॉपर्टी को लेकर वकील का मरियम, डॉ. साबिर रहमान, बिलाल और पहली पत्नी गुलशन आरा से विवाद चला आ रहा था।

वकील हत्याकांड की पुलिस गहनता से जांच कर रही है। पुलिस को आशंका है शॉर्प शूटरों को रकम देकर हत्या कराई गई है। इतना ही नहीं, हत्या से पहले शूटरों ने वकील की रेकी की होगी। सही समय मिलने पर शूटरों ने हत्या को अंजाम दिया। वहीं, आशंका यह भी जताई जा रही है कि हत्या को अंजाम देने वाले दो शूटर रहे होंगे। एक बाइक चला रहा होगा तो दूसरे ने गोली मारकर हत्या की होगी। फिलहाल आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस सीसीटीवी कैमरे खंगाल रही है। वकील राव उस्मान की हत्या के विरोध में रुड़की एडवोकेट एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने कोर्ट के कार्य का बहिष्कार किया। साथ ही चकबंदी और तहसील कोर्ट का कार्य भी बंद करा दिया। वहीं, एसपी देहात से मिलकर हत्याकांड का दो दिन के अंदर खुलासा नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी।

वकील उस्मान की हत्या के विरोध में बृहस्पतिवार को वकीलों ने कार्य बहिष्कार किया। इसके बाद उन्होंने एसपी देहात प्रमेंद्र सिंह डोबाल से मुलाकात की। वकीलों ने हत्याकांड का खुलासा दो दिन के अंदर करने की मांग की। साथ ही चेतावनी दी कि अगर हत्याकांड का खुलासा जल्द नहीं हुआ तो वकीलों उन्हें आंदोलन करने पर विवश होना पड़ेगा। एसपी देहात ने आश्वासन दिया कि जल्द ही हत्याकांड का खुलासा कर आरोपियों को जेल भेजा जाएगा।