ट्रक ने बाइक सवार को मारी टक्कर हुई मौत, लोगों ने हाईवे पर शव रखकर लगाया जाम, पुलिस के साथ तीखी नोकझोंक

हरिद्वार, जनपद हरिद्वार के रुड़की से कोरोना कर्फ्यू के दौरान एक रोड़ दुर्घटना की खबर है, मिली जानकाररी के मुताबिक रुड़की में सालियर के पास हाईवे पर तेज रफ्तार ट्रक ने बाइक सवार को टक्कर मार दी, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई, जबकि बाइक सवार दो बच्चे भी घायल हो गए।

बाइक सवार की मौत से गुस्साए ग्रामीणों ने हाईवे पर जाम लगा दिया और ट्रक में तोड़फोड़ कर दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन वे शव हाईवे पर रखकर बैठ गए। इस दौरान ग्रामीणों की पुलिस से तीखी नोकझोंक भी हुई | गंगनहर कोतवाली क्षेत्र स्थित सालियर गांव निवासी रितिक (30) बृहस्पतिवार की शाम करीब छह बजे बाइक पर दो बच्चियों के साथ रुड़की की ओर जा रहा था। जैसे ही वह सालियर के पास हाईवे पर क्राॅसिंग पर पहुंचा तो तेज रफ्तार से आ रहे एक ट्रक ने बाइक को टक्कर मार दी।

इसके बाद बाइक ट्रक के नीचे जा घुसी। ट्रक के नीचे आकर रितिक की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि दोनों बच्चे छिटककर हाईवे किनारे जा गिरे और घायल हो गए। घटना के बाद चालक मौके पर ही ट्रक छोड़कर फरार गया, सूचना मिलते ही बड़ी संख्या में ग्रामीण मौके पर पहुंचे और हंगामा कर दिया। गुस्साए ग्रामीणों ने ट्रक में तोड़फोड़ कर दी और हाईवे पर जाम लगा दिया। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और ग्रामीणों को समझाकर हाईवे खुलवाने का प्रयास किया।

इस बीच गुस्साए ग्रामीण शव को लेकर हाईवे पर ही बैठ गए। पुलिस ने सख्ती दिखाई तो ग्रामीणों की पुलिस से नोकझोंक हो गई। सूचना मिलते ही एसपी देहात प्रमेंद्र डोबाल, सीओ बहादुर सिंह चौहान समेत भारी पुलिस बल मौके पर पहुंचा और ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन वे मुआवजे की मांग पर अड़े रहे।

एसपी देहात प्रमेंद्र डोबाल ने बताया कि तहरीर आने पर केस दर्ज किया जाएगा। ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया जा रहा है। साथ ही उन्होंने उच्चाधिकारियों से वार्ता कर मुआवजा दिलाए जाने का आश्वासन दिया।
हादसे के बाद हाईवे के दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतार लग गई, जिससे सड़क पर जाम लग गया। वाहन चालक हाईवे पर फंस गए। किसी तरह पुलिस ने वाहनों को रूट डायवर्ट कर यातायात सुुचारू करवाया।

वहीं, हाईवे पर बड़ी संख्या में ग्रामीण और महिलाएं जुट गई। इस बीच पुलिस ने सख्ती दिखाकर जाम खुलवाने का प्रयास किया, लेकिन ग्रामीण डटे रहे। काफी समझाने के बाद करीब आठ बजे जाम खुल सका।