Friday, March 1, 2024
HomeStatesUttarakhandत्योहारी सीजन से पूर्व फूड सेफ्टी विभाग द्वारा देहरादून एवं पछवा दून...

त्योहारी सीजन से पूर्व फूड सेफ्टी विभाग द्वारा देहरादून एवं पछवा दून के बाजारों में की सेंपलिंग

देहरादून, जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी देहरादून श्री पीसी जोशी द्वारा बताया है कि फूड सेफ्टी स्टैंडर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया द्वारा दाल की क्वालिटी एवं सेफ्टी जांच हेतु देश के ढाई सौ शहरों में आज सेंपलिंग अभियान चलाया गया है जिसके तहत देहरादून एवं पछवा दून के बाजारों में डिस्ट्रिक्ट फूड सेफ्टी अथॉरिटी देहरादून की टीम द्वारा दाल के लोकल एवं ऑल इंडिया ब्रांड के 20 नमूने जांच हेतु लिए गये
दाल भारतीय नागरिकों की हेल्थी बैलेंस डाइट में प्रोटीन एवं माइक्रोन्यूट्रिएंट्स का महत्वपूर्ण स्रोत है दून के बाजारों में दाल की लगभग 90% आपूर्ति उत्तर प्रदेश मध्य प्रदेश राजस्थान से आपूर्ति होती है लोकल दाल की आपूर्ति एवं उत्पादन 10% से भी कम है जब की दाल का उपयोग कई प्रकार की इंडियन स्वीट्स सहित विभिन्न प्रकारके भारतीय व्यंजनों में उपयोग होता है दाल के सभी वैरीअंट की फूड सेफ्टी स्टैंडर्ड रेगुलेशन के तहत सभी पैरामीटर की जांच की जाएगी इसके साथ सेफ्टी पैरामीटर में हैवी मेटल्स अफलाटॉक्सिन कॉन्टैमिनेंट्स पेस्टिसाइड्स और एडल्टरेशन की जांच की जाएगी 6 सप्ताह के भीतर जांच रिपोर्ट फूड सेफ्टी स्टैंडर्ड्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया के पोर्टल पर अपलोड होगी इस अभियान दाल के मिलावट हॉटस्पॉट का पता फूड सेफ्टी अथॉरिटी चलेगा सेंपलिंग टीम में जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी देहरादून श्री पीसी जोशी एवं वरिष्ठ खाद्य सुरक्षा अधिकारी विकास नगर श्रीमती मंजू रावत एवं वरिष्ठ खाद्य सुरक्षा अधिकारी नगर निगम श्री रमेश सिंह एवं सतीश पुरोहित आदि उपस्थित थे

सूबे में ‘अगस्त क्रांति’ के मौके पर निकलेगी ‘तिरंगा यात्रा’

देहरादून, देश की आजादी के 75 वर्ष पूरा होने पर इस बार जश्न-ए-आजादी को बड़े महोत्सव के रूप में मनाया जायेगा। इसी कड़ी में आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत ‘अगस्त क्रांति’ के उपलक्ष्य में आगामी 9 अगस्त को प्रदेशभर के विद्यालयों, महाविद्यालयों एवं विश्वविद्यालयों में ‘तिरंगा यात्रा’ निकाली जायेगी, जोकि शिक्षा विभाग के तत्वाधान में आयोजित की जायेगी। राजधानी देहरादून में आयोजित तिरंगा यात्रा में विभिन्न स्कूलों एवं महाविद्यालयों के हजारों छात्र-छात्राएं प्रतिभाग करेंगे, जिसमें स्कॉट गाइड, एनएसएस एवं एनसीसी कैडेट्स की भागीदारी प्रमुख रूप से रहेगी। तिरंगा यात्रा का शुभारम्भ सूबे के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी करेंगे, जिसमें अन्य मंत्री, विधायक एवं जनप्रतिनिधि भी प्रतिभाग करेंगे।

शिक्षा मंत्री डॉ0 धन सिंह रावत ने मीडिया को यह जानकारी देते हुये बताया कि देश की आजादी के 75 वर्ष पूरे होने उपलक्ष्य में देशभर में स्वाधीनता दिवस को बड़े महोत्सव के तौर पर मनाया जा रहा है। आजादी के इस अमृत महोत्सव को यादगार बनाने एवं प्रत्येक नागरिक में राष्ट् भावना जागृत करने के उद्देश्य से ‘हर घर तिरंगा’ अभियान की शुरूआत की है। इसी कड़ी में ‘अगस्त क्रांति’ के उपलक्ष्य में आगामी 9 अगस्त को प्रदेशभर के विद्यालयों, महाविद्यालयों एवं विश्वविद्यालयों में ‘तिरंगा यात्रा’ निकाली जायेगी। उन्होंने बताया कि देहरादून में आयोजित तिरंगा यात्रा का शुभारम्भ प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी करेंगे। डॉ0 रावत ने बताया कि इस यात्रा को विद्यालयी शिक्षा विभाग के तत्वाधान में आयोजित किया जायेगा। उन्होंने कहा कि देहरादून में आयोजित तिरंगा यात्रा में आसपास के विभिन्न शिक्षण संस्थानों के हजारों छात्र-छात्राएं प्रतिभाग करेंगे, जिसमें स्कॉट गाइड, एनएसएस एवं एनसीसी कैडेट्स की भागीदारी प्रमुख रूप से रहेगी। तिरंगा यात्रा की तैयारियों के लिये उच्च शिक्षा एवं विद्यालयी शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश दे दिये गये हैं। उच्च शिक्षा मंत्री डॉ0 रावत ने बताया कि तिरंगा यात्रा सुबह आठ बजे परेड़ ग्राउंड से राजपुर रोड़ होते हुये बहल चौक तक निकाली जायेगी, जहां से सुभाष रोड़ होते हुये वापस परेड़ ग्राउंड पहुंचेगी। तिंरगा यात्रा में मंत्री, विधायक एवं जनप्रतिनिधि भी प्रतिभाग करेंगे। गौरतलब हो कि स्वाधीनता आंदोलन के दौरान 9 अगस्त 1942 को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के अह्वान पर मुम्बई से अगस्त क्रांति आंदोलन की शुरूवात हुई थी। दरअसल द्वितीय विश्व युद्ध में भारतीयों के समर्थन लेने के बावजूद जब अंग्रेज़ भारत को स्वतंत्र करने को तैयार नहीं हुए तो राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने भारत छोड़ो आंदोलन के रूप में आजादी की अंतिम जंग का ऐलान कर दिया जिससे ब्रितानिया हुकूमत में दहशत फैल गई। इस आंदोलन ने देश की स्वाधीनता के रास्ते खोल दिये और 15 अगस्त सन् 1947 को हिन्दुस्तान स्वतंत्र हुआ।

 

बिष्ट गांव में आपदा प्रभावित क्षेत्र का कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने किया स्थलीय निरीक्षण

देहरादून, प्रदेश के कृषि एवं कृषक कल्याण मंत्री गणेश जोशी ने देहरादून जनपद के अंतर्गत बिष्ट गांव में भारी वर्षा के कारण हुए नुकसान का स्थलीय निरीक्षण किया। घटनास्थल का जायजा लेने के बाद लेने के बाद कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने मौके पर मौजूद अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश भी दिए। इस दौरान कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी प्रभावित परिवारों से मिले तथा सरकार की ओर से हर संभव सहायता का भरोसा दिलाया। मौके पर कैबिनेट मंत्री जोशी ने प्रभावित परिवारों को गृह निर्माण हेतु सहायता चेक राशि भी प्रदान की। कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने जिन परिवारों के मकान क्षतिग्रस्त हुए हैं उनके विस्थापन के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए। मंत्री गणेश जोशी ने कहा कि राज्य सरकार दैवीय आपदा जैसी घटनाओं पर संवेदनशील है। प्रदेश सरकार का प्रयास है कि आपदा जैसी स्थिति में तत्काल राहत बचाव कार्य प्रारंभ करते हुए नुकसान को कम किया जा सके। सरकार इसके लिए तत्पर रूप से कार्य कर रही है।
इस दौरान उप जिलाधिकारी मसूरी/सदर नरेश चन्द दुर्गापाल, ज़िला पंचायत उपाध्यक्ष दीपक पुण्डीर, लक्ष्मण सिंह रावत, तहसीलदार सोहन रंगड सहित संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

 

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments