उत्तराखंड : केदारनाथ धाम के 16 नवंबर और 19 को बदरीनाथ के कपाट शीतकाल के लिये होंगे बंद

रुद्रप्रयाग/देहरादून, उत्तराखंड में स्थित चारधाम बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट बंद होने की तिथि की घोषणा कर दी गई है। चार धाम कपाट बंद होने की तिथि और खोलने की तिथि हर वर्ष निर्धारित की जाती है। रविवार को बोर्ड की मीटिंग में चारधाम कपाट बन्द होने की तिथि निर्धारित कर दी गई है। बद्रीनाथ धाम के कपाट 19 नवंबर सांय 3 बजकर 35 मिनट पर शीतकाल हेतु बंद किये जायेंगे।

केदारनाथ धाम के कपाट भैयादूज 16 नवंबर को प्रात: 8.30 बजे बंद होंगे। यमुनोत्री धाम के कपाट भैयादूज के अवसर पर 16 नवंबर को पूर्वाह्न में बजे बंद होंगे। गंगोत्री धाम के कपाट अन्नकूट के अवसर पर 15 नवंबर पूर्वाह्न में शीतकाल हेतु बंद होंगे। वहीं द्वितीय केदार मद्महेश्वर जी के कपाट 19 नवंबर को प्रात: 7 बजे बंद होंगे। तृतीय केदार तुंगनाथ जी के कपाट 4 नवंबर 11.30 बजे बंद होंगे।

पौराणिक मान्यताओं के अनुसार विजयदशमी को भगवान श्री बदरीविशाल जी के कपाट बंद की घोषणा पंचांग गणना द्वारा तय की जाती है। देवस्थानम बोर्ड के मीडिया प्रभारी डॉ हरीश गौड़ ने बताया कि पंचांग अनुसार कपाट बंद होने की तिथि निर्धारित की गई है। बैठक में बदरीनाथ मंदिर के मुख्य पुजारी ईश्वरप्रसाद नम्बूदरी, नायब रावल अमरनाथ नम्बूदरी, अपर मुख्यकार्याधिकारी बीड़ी सिंह, धर्माधिकारी भुवनचंद्र उनियाल, प्रभारी अधिकारी विपिन तिवारी, अपरधर्माधिकरी राधाकृष्ण थपलियाल, अपरधर्माधिकारी सत्यप्रसाद चमोला, वेदपाठी रविन्द्र भट्ट, सहायक मंदिर अधिकारी राजेन्द्र चौहान एवं समस्त कर्मी मौजूद रहे।