फिल्मी अंदाज में शादी की रात ही जेवरात लेकर गायब हुई दुल्हन

देहरादून। देहरादून में एक परिवार से शादी के नाम पर धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। पिंकी नाम की लड़की ने बीते 28 जून शाम को आकाश नाम के लड़के से शादी की, इस दिन सभी मेहमानों ने शादी की दावत खाई। इसके अगले ही दिन यानि 29 जून की सुबह दुल्हन पिंकी घर के सभी गहने और जेवर लेकर रफूचक्कर हो गई। सुबह धोखाधड़ी का पता चलने के बाद परिवार वाले के होश उड़ गये। फरार दुल्हन को खोजने निकले पंडित जी: शादी के नाम पर हुई इस धोखाधड़ी की जांच करने वाले थाना प्रेम नगर के जांच अधिकारी संदीप के मुताबिक, सुद्दोवाला-झाझरा शिव मंदिर के पुजारी और विवाह कराने वाले पंडित ने लड़की ढूंढ कर शादी करवाई थी। अब पंडित को ही नहीं पता कि लड़की कारनामा कर कहां रफूचक्कर हो गई। पुलिस ने पंडित को हिदायत दी है कि वह दुल्हन को ढूंढ कर लाए। पंडित के मुताबिक, लड़की हरियाणा के पानीपत की रहने वाली थी। अब पुलिस और पंडित दुल्हन पिंकी को ढूंढने के लिए उसके गृह क्षेत्र रवाना हुई है।

पुलिस के मुताबिक, लड़की की बरामदगी के बाद ही तस्वीर साफ हो पाएगी की क्या यह लड़की इसी तरह का शादी के नाम पर ठगी करती है या फिर आकाश से शादी की रात ही कुछ ऐसा हुआ जिससे लड़की सुबह होते ही निकल गई। थाना प्रेमनगर सब-इंस्पेक्टर संदीप के मुताबिक, प्रारंभिक जानकारी में यह बात सामने आई है कि पिंकी से शादी करने वाला आकाश मानसिक रूप से भी अस्वस्थ है। यही कारण रहा कि काफी समय तक उसकी शादी नहीं हो पाई। इसी के चलते दूल्हे आकाश के माता-पिता ने शादी कराने वाले पंडित पर लगातार कहीं से भी लड़की ढूंढ कर विवाह कराने पर जोर दिया। ऐसे में इस बात का भी आशंका जताई जा रही है कि पिंकी को सुहागरात के दिन आकाश की मानसिक स्थिति का पता चला होगा, जिसके बाद वह फरार हो गई। हालांकि इस बात की पुष्टि तभी हो सकती है जब दुल्हन पुलिस के हत्थे चढ़ेगी।
प्रेमनगर थाना पुलिस के मुताबिक, यह मामला

झाझरा क्षेत्र का है। आकाश नाम का 28 वर्षीय युवक छोटे-मोटे काम करने के साथ ही इलाके के मंदिर में काम करता है। मंदिर के पुजारी और शादी विवाह का कार्य करने वाले पंडित जी को लड़के के माता पिता ने अपने बेटे की शादी कराने की बात कही। पंडित ने 28 जून 2022 हरियाणा के पानीपत पिंकी को उसके पिता, बहन और तीन चार रिश्तेदारों के साथ देहरादून झाझरा ने बुलाया। जहां आकाश का विवाह रस्मों रिवाजों के साथ शिव मंदिर में किया गया। 28 तारीख की ही शाम को सभी मेहमानों ने शादी की दावत दी गई। वहीं, दुल्हन पिंकी के पिता और बहन सहित अन्य रिश्तेदार भी पार्टी में शामिल होकर हरियाणा चले गए.इधर, शादी की रात दूल्हे आकाश के माता पिता घर के बाहर सो रहे थे। लड़का और दुल्हन कमरे में सोने तो चले गए, लेकिन सुबह तड़के ही दुल्हन सबको चकमा देकर गले का सेट, गहने और माल समेत कर तड़के ऐसी नौ दो ग्यारह हो गई। जब दूल्हे सहित घरवालों की आंखें जब खुली तो सबके होश उड़ गए। फिलहाल, इस मामले में पीड़ित परिवार जनों ने उस पंडित पर लड़की को ढूंढकर लाने का दबाव बनाया है।