Monday, June 24, 2024
HomeStatesMaharashtraगौतम अडानी को एक और बड़ा झटका, डाउ जोन्स इंडेक्स से बाहर...

गौतम अडानी को एक और बड़ा झटका, डाउ जोन्स इंडेक्स से बाहर होगा अडानी इटरप्राइजेस का शेयर

मुंबई, गौतम अडानी को एक और बड़ा झटका लगा है। अडानी एंटरप्राइजेस को 7 फरवरी से पहले डाउ जोन्स सस्टेनेबिलिटी इंडेक्स से हटा दिया जाएगा। एक दिन पहले ही नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ने अडानी ग्रुप के तीन शेयरों अडानी एंटरप्राइजेस, अडानी पोर्ट्स और अम्बुजा सीमेंट्स को 3 फरवरी 2023 से एडीशनल सर्विलांस मीजर फ्रेमवर्क के तहत डालने की जानकारी दी थी। अब यह स्टॉक डाउ जोन्स सस्टेनबिलिटी इंडेक्स से बाहर होने की कगार पर है। इसका प्रभावी समय मंगलवार 7 फरवरी से शुरू हो रहा है। यह जानकारी यूएस मार्केट ने दी है।

अमेरिकी स्टॉक एक्सचेंज ने अडानी एंटरप्राइजेज को एसएंडपी डाउ जोंस सस्टेनबिलिटी इंडेक्स से बाहर करने के ऐलान के बारे में कहा गया है कि अडानी एंटरप्राइजेज को स्टॉक हेरफेर और अकाउंटिंग फ्रॉड के आरोपों द्वारा ट्रिगर किए गए मीडिया और स्टेकहोल्डर एनॉलिसिस के बाद डाउ जोन्स स्स्टेबिलिटी इंडेक्स से हटा दिया जाएगा। इंडेक्स की घोषणा में कहा गया है कि एसएंडपी डाउ जोन्स इंडेक्स मंगलवार 7 फरवरी, 2023 को खुलने से पहले प्रभावी बदलाव करेंगे। हिंडनबर्ग की रिपोर्ट के बाद अडानी ग्रुप के शेयरों में भारी गिरावट है। पिछले छह सत्रों में, एनएसई पर अडानी एंटरप्राइजेज शेयर की कीमत 3,442 रुपए से 55 प्रतिशत का गोता लगाते हुए, 1,565 रुपए से अधिक स्तर तक गिर गई है।

25 जनवरी के बाद से अडानी को झटके पर झटके लग रहे हैं। पिछले 9 दिन में अडानी ग्रुप को 8 लाख करोड़ रुपये से अधिक के नुकसान का अनुमान है। अडानी ग्रुप के कई स्टॉक्स 60 फीसद से नीचे आ चुके हैं। इसकी वजह से गौतम अडानी को ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स के टॉप-10 अरबपतियों की लिस्ट में चौथे नंबर से 21वें पर लाकर पटक दिया।
इस साल अडानी की संपत्ति 59.2 अरब डॉलर कम होकर 61.3 अरब डॉलर रह गई है। अडानी को करीब 52 अरब डॉलर का झटका तो केवल केवल एक हफ्ते में लगा है। आरबीआई ने सभी बैंकों से अडानी एंटरप्राइजेस को दिये कर्ज की जानकारी मांगी है। वहीं, अडानी ग्रुप ने 20 हजार करोड़ रुपए के फुली सब्सक्राइब्ड एफपीओ को रद्द कर इन्वेस्टर्स का पैसा लौटाने की बात कही है। अब अमेरिकी शेयर बाजार ने भी झटका दे दिया है।

 

 

बीएएमएस की फर्जी डिग्री मामले में 7 गिरफ्तार, मास्टर माइंड इमलाख की अवैध अर्जित सम्पत्ति होगी कुर्क

देहरादून, पुलिस महानिदेशक उत्तराखण्ड श्री अशोक कुमार ने बताया कि एसटीएफ द्वारा विगत माह में प्रदेश में प्रैक्टिस कर रहे बीएएमएस की फर्जी डिग्री वाले आयुर्वेदिक चिकित्सकों के गिरोह का भण्डाफोड़ किया गया था, जिसकी विवेचना जनपद देहरादून पुलिस द्वारा की जा रही है, जिसमें अब तक सात फर्जी चिकित्सक गिरफ्तार हो चुके हैं। इस गिरोह का मास्टर माइण्ड 25 हजार रूपये का ईनामी इमलाख को एसटीएफ द्वारा दिनांक 02 फरवरी, 2023 को किशनगढ़ जिला अजमेर राजस्थान से गिरफ्तार किया गया।

इमलाख के बारे में जानकारी की गयी तो वह कोतवाली मुजफफरनगर का कुख्यात हिस्ट्रीशीटर है। इसके द्वारा अपने भाई इमरान के साथ बरला थाना क्षेत्र मुजफ्फरनगर में बाबा ग्रुप ऑफ कॉलेज के नाम से मेडिकल डिग्री कॉलेज भी खोला हुआ है जो कि बीफार्मा, बीए, बीएससी, आदि के कोर्स संचालित करता है। यह भी जानकारी हुई कि इम्लाख बाबा ग्रुप ऑफ कॉलेज, मुजफ्फरनगर का स्वामी है एवं इसके विरुद्ध फर्जी डिग्री दिलवाने के कई आपराधिक मामले दर्ज हैं, इसे यूपी का सबसे बड़ा शिक्षा माफिया कहा जाता है।
प्रदेश के मुख्यमंत्री के निर्देश पर उपरोक्त अभियुक्त इमलाख के विरूद्ध गैंगस्टर एक्ट के अन्तर्गत कार्यवाही करते हुए इसके द्वारा अवैध रूप से अर्जित की गयी सम्पत्ति को कुर्क करने की कार्यवाही की जाएगी।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments