Wednesday, April 17, 2024
HomeStatesUttarakhandसमान नागरिक संहिता पर कांग्रेस का विरोध उसकी तुष्टिकरण की राजनीति का...

समान नागरिक संहिता पर कांग्रेस का विरोध उसकी तुष्टिकरण की राजनीति का प्रमाण : डॉ. भसीन

देहरादून, भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ. देवेंद्र भसीन ने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी के नेतृत्व में राज्य सरकार द्वारा प्रदेश में समान नागरिक संहिता लागू करने के निर्णय लिए जाने का स्वागत करते हुए कांग्रेस द्वारा इस पर सवाल खड़े किए जाने की आलोचना की है । उन्होंने यह भी कहा है कि कॉन्ग्रेस ने हमेशा तुष्टिकरण की राजनीति की है और अब जब सही दिशा में कदम उठाए जा रहे हैं तो कांग्रेस परेशान है ।
आज एक बयान में भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ. देवेंद्र भसीन ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने विधानसभा चुनाव से पूर्व घोषणा की थी कि भाजपा के सत्ता में आने पर समान नागरिक संहिता को राज्य में लागू किया जाएगा। अब इस घोषणा को कार्यान्वित करते हुए उनके नेतृत्व में राज्य कैबिनेट ने समान नागरिक संहिता लागू करने का जो निर्णय लिया है वह ऐतिहासिक है और इसका भारतीय जनता पार्टी स्वागत करती है ।
उन्होंने कहा कि इससे यह भी साफ है कि भाजपा ने चुनाव पूर्व जनता से जो वादे किए ,श्री धामी के नेतृत्व में सरकार उन्हें पूरा करने के लिए तत्पर है ।
डॉ भसीन ने कांग्रेस द्वारा समान नागरिक संहिता पर सवाल खड़े किए जाने की आलोचना करते हुए कहा कि इससे साफ है कि कांग्रेस देश में तुष्टिकरण की राजनीति को बढ़ावा देने में विश्वास करती है और वह ‘एक देश एक व्यवस्था’ के मौलिक सिद्धांत जिसे माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में देश में क्रमशः लागू किया जा रहा है की विरोधी है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेताओं को पता होना चाहिए कि समान नागरिक संहिता लागू किया जाना, संविधान सम्मत है । डॉ भसीन का कहना था कि संविधान के नीति निर्देशक तत्वों के अनुच्छेद 44 में देश में समान नागरिक संहिता लागू करने का उल्लेख किया गया है । इसके अलावा यह कार्य राज्य सरकार के अधिकार क्षेत्र में भी हैं और गोवा इसका उदाहरण है। इसके अलावा उच्चतम न्यायालय ने भी देश में समान नागरिक संहिता लागू करने पर जोर दिया है ।लेकिन अफसोस की बात यह है कि कांग्रेस को न ये बातें समझ में आती है और न ही वह देश हित में इन बातों पर विचार करने को तैय्यार है। कांग्रेस का सिद्धांत समाज में विभाजन करके सत्ता में आने का रहा है। लेकिन देश की जनता कांग्रेस के खेल को पहचान गई है और इसीलिए कॉन्ग्रेस समापन की ओर बढ़ रही है। कांग्रेस का यही रवैया आने वाले दिनों में कांग्रेस के इतिहास में समेट देगा, यह बात भी दिखाई दे रही है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments