पीएम मोदी ने कहा, कोरोना को हराने और वैश्विक बेहतरी के लिए भारत-यूरोपीय संघ के बीच मजबूत संबंध जरूरी

नई दिल्ली, एएनआइ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए सभी 27 यूरोपीय संघ के सदस्यों, राष्ट्रध्यक्षों या शासनाध्यक्षों के साथ बैठक में शामिल हुए। यह बैठक कोरोना महामारी से जुड़ी स्वास्थ्य सेवाओं के सहयोग पर विचार करने के लिए आयोजित की गई है। पीएम मोदी को यूरोपीय परिषद के अध्यक्ष चार्ल्स मिशेल द्वारा विशेष आमंत्रित के रूप में निमंत्रण भेजा गया था। भारत-यूरोपीय संघ के नेताओं की बैठक पुर्तगाल के प्रधानमंत्री एंटोनियो कोस्टा द्वारा आयोजित की गई है।

अधिक जानकारी देते हुए विदेश मंत्रालय के सचिव विकास स्वरूप ने बताया कि आज ऐतिहासिक और सफल भारत-यूरोपीय संघ शिखर बैठक संपन्न हुई। यह एक अभूतपूर्व अवसर था जहां भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विशेष आमंत्रित सदस्य थे। इस बैठक ने भारत और यूरोपीय संघ के नेताओं को तीन व्यापक क्षेत्रों पर विचार-विमर्श के लिए मंच प्रदान किया। जिसमें पहला व्यापार, प्रौद्योगिकी और कनेक्टिविटी। दूसरा कोरोना, पर्यावरण और जलवायु परिवर्तन एवं तीसरा विदेश नीति, सुरक्षा और क्षेत्रीय मुद्दे शामिल रहे।

विदेश मंत्रालय के सचिव ने आगे बताया कि अपनी प्रारंभिक टिप्पणी में प्रधानमंत्री मोदी ने न केवल यूरोपीय संघ के साथ बल्कि यूरोपीय संघ के सभी सदस्य देशों के साथ भारत के मजबूत संबंधों के औचित्य पर बात की है।

बता दें कि पुर्तगाल वर्तमान में यूरोपीय संघ परिषद की अध्यक्षता करता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत-यूरोपीय संघ शिखर बैठक में हिस्सा लेने इस महीने पुर्तगाल की यात्रा पर जाने वाले थे लेकिन, कोरोना की स्थिति को बिगड़ता देख अब वर्चुअली बैठक का आयोजन किया गया है।

कोरोना की स्थिति को लेकर पीएम मोदी ने मुख्यमंत्रियों से की बात

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, हिमाचल प्रदेश और तमिलनाडु के मुख्यमंत्रियों से उनके राज्यों में कोरोना की स्थिति और उससे निपटने के लिए की गई तैयारियों पर बातचीत की। पीएम ने पिछले कुछ दिनों से राज्यों में महामारी की स्थिति का जायजा लेने के लिए टेलीफोन पर वहां के मुख्यमंत्रियों के साथ बातचीत कर रहे हैं। इस संबंध में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के कार्यालय ने ट्वीट कर बताया कि मोदी ने राज्य में गिरती संक्रमण दर पर संतोष व्यक्त किया और चौहान को केंद्र से हर संभव मदद का आश्वासन दिया। चौहान ने प्रधानमंत्री को महामारी से लड़ने के लिए राज्य द्वारा किए जा रहे विभिन्न प्रयासों के बारे में बताया और उन्हें केंद्र के समर्थन के लिए धन्यवाद दिया।