निर्माण कार्यों समय पर पूर्ण किये जाय ताकि जनता को उसका लाभ मिल सके- तीरथ सिंह

रुद्रप्रयाग – अधिकारी आपसी समन्वय बनाकर कार्य करें ताकि विकास योजनाएं समय रहते धरातल पर उतर पाये विकास कार्यों में किसी भी प्रकार की कोताही बर्दाश्त नहीं होगी । यह बात सांसद गढ़वाल व पूर्व मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने आज विकास भवन सभागार में जनपद स्तरीय अधिकारियों की बैठक लैते हुये कही।
आज विकास भवन सभागार में सांसद (लोक सभा) गढ़वाल एवं अध्यक्ष जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति तीरथ सिंह रावत ने दिशा की बैठक में जनपद में विभिन्न विभागों द्वारा संचालित हो रही जनकल्याणकारी योजनाओं का विभागवार समीक्षा करते हुए सभी अधिकारियों को निर्देश दिये गये हैं कि उनके द्वारा जो भी निर्माण कार्य कराये जा रहे हैं उन कार्यो को शीर्ष प्राथमिकता व समयवद्वता से गुणवत्ता के साथ पूर्ण कराना सुनिश्चत करें। ताकि योजनाओं का लाभ क्षेत्रीय जनता को शीध्रता से शीघ्र उपलब्ध हो सके।
उन्होंने कहा कि विकास योजनाओं को धरातल पर उतारने के लिए सभी अधिकारियों को आपसी समन्वय के साथ कार्य करने के निर्देश दिये तथा विकास योजनाओं को गति देने के लिए जनप्रतिनिधियों का भी सहयोग जरुरी है। उन्होने अधिकारियों को निर्देश दिये कि उनके द्वारा जिन योजनाओं के निर्माण कार्य किये जा रहे है उन योजनाओं का स्थलीय निरीक्षण करते हुए गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखें। गुणवत्ता में यदि किसी प्रकार की कमी पायी जाती है तो संबंधित के विरुद्ध आवश्यक कार्यवाही की जाये।
उन्होंने जल जीवन मिशन से जुड़े अधिकारियों को निर्देश दिये है कि यह योजना केन्द्र व राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी योजना है, इस योजना के अंतर्गत जो भी कार्य किये जा रहे हैं उन कार्यों को शीघ्र प्राथमिकता से पूर्ण करते हुए ग्रामवासियों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध करना सुनिश्चित करें, तथा पाइप लाइनों को अंडर ग्राउंड करना सुनिश्चित करें। उन्होंने प्रधानमंत्री आवास योजना की समीक्षा करते हुए उन्होने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि इस योजना के अन्तर्गत जो भी आवास स्वीकृत हैं तथा जिन पर निर्माण कार्य किये जा रहे है उन कार्यो को शीघ्र प्राथमिकता से लाभार्थियों को उपलब्ध करना सुनिश्चित करें। उन्होंने प्रधानमंत्री सड़क योजना की समीक्षा करते हुए पीएमजीएसवाई को निर्देश दिये है कि उनके अधीन जो भी निर्माणाधीन सड़कें हैं उनको शीध्र प्राथमिकता से पूर्ण करना सुनिश्चित करें, तथा सड़क निर्माण कार्य से ग्रामीण क्षेत्र के आवाजाही के रास्ते जो क्षतिग्रस्त हुए है उनका भी शीध्र प्राथमिकता से कार्य करना सुनिश्चित करें तथा ग्राम वासियों को किसी प्रकार की समस्या न हो। इसके अलावा उन्होंने लोक निर्माण विभाग, पीएमजीएसवाई के साथ ही वन विभाग व राजस्व विभाग को भी निर्देशित किया कि संयुक्त रूप से मोटर मार्ग का निरीक्षण करें। जिससे राजस्व भूमि, वन भूमि जैसी समस्या आने पर उसका समाधान हो सकेगा। उन्होंने संबंधित अधिकारी को निर्देशित किया कि बरसात से पूर्व मार्ग का कार्य पूर्ण करें। जिससे लोगों को समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ेगा।
बैठक में स्वरोजगार योजना की समीक्षा करते हुए उन्होने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिये कि बेरोजगारों द्वारा स्वरोजगार के लिये ऋण हेतु जो भी आवेदन आते है उन आवेदन पत्रों पर शीघ्र प्राथमिकता से कार्यवाही करते हुए आवेदनकर्ता को ऋण उपलब्ध करना सुनिश्चित करें। इसके लिए उन्होंने बैंकों को हिदायत दी है कि वे अनावश्यक रूप से आवेदन पत्रों को निरस्त न करें तथा अधिक से अधिक युवाओं के आवेदन पत्रों को ऋण प्रदान करना सुनिश्चित करें, जिस से वह अपना व्यवसाय शुरु करें। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया कि केंद्रीय योजनाओं के अंतर्गत विकास कार्यों के लिए धनराशि की किसी भी तरह से कमी नहीं है। इसलिए विभागीय अधिकारी समय से बेहतर डीपीआर/प्रस्ताव बनाकर प्रस्तुत करें।
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी नरेश कुमार द्वारा मा. सांसद का जनपद आगमन पर स्वागत करते हुए अभार व्यक्त किया गया तथा बैठक में मा. सांसद द्वारा जो भी दिशा निर्देश दिये गये हैं उनका संबंधित विभागों द्वारा अनुपालन सुनिश्चित कराया जायेगा।

इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष अमरदेई शाह, रुद्रप्रयाग विधायक भरत चौधरी, केदारनाथ विधायक शैलारानी रावत, जिला अध्यक्ष भाजपा दिनेश उनियाल, पूर्व जिला अध्यक्ष भाजपा विजय कप्रवाण, मण्डल अध्यक्ष सुरेंद्र सिंह रावत, पूर्व जिला अध्यक्ष शकुंतला जगवाण, शशि नौटियाल, गौरव चौधरी, परियोजना निदेशक रमेश चन्द्र, जिला विकास अधिकारी मंविन्दर कौर, मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ वी.के. शुक्ला सहित जिला स्तरीय अधिकारी व जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।