स्वास्थ्य सेवा से हटाए कर्मियों के समर्थन में ‘आप’ ने किया कूच, पुलिस से हुई नोकझोंक

देहरादून, अस्पतालों से हटाए गए कर्मचारियों के समर्थन में आम आदमी पार्टी ने मोर्चा खोल दिया है। सोमवार को उन्होंने सचिवालय कूच शुरू कर दिया है। पुलिस ने सहस्रधारा रोड पर उन्हें रोकने के लिए बैरीकेटिंग लगा दी। यहां पर उनकी पुलिस से नोकझोंक हो रही है। आप के प्रदेश संगठन समन्वयक जोत सिंह बिष्ट, प्रदेश प्रवक्ता उमा सिसोदिया की अगुवाई में कार्यकर्ता पहुंचे। उन्होंने कहा कि कोरोनाकाल में संघर्ष की घड़ी में इन कोरोना योद्धाओं ने अपनी जान की परवाह किए बगैर कई हजार लोगों की जान बचाई। अब उनको स्थाई करने के बजाए उनको सड़क पर धक्के खाने को मजबूर कर दिया। राज्य सरकार चंपावत उपचुनाव में मस्त है और दूसरी ओर फ्रंटलाइन वर्कर्स अपनी मांगों को लेकर धरना देने को मजबूर है। इस दौरान जीतेन्द्र पंत, सरिता गौतम, सतीश शर्मा, दीप प्रकाश पंत, इंदु व्यास आदि मौजूद रहे। उधर, दून अस्पताल से हटाए गए कर्मचारियों का मामला कैबिनेट में न आने से उनमें आक्रोश है। कूच में वह जोरदार प्रदर्शन कर सरकार एवं अफसरों के खिलाफ नारेबाजी की। विगत दिनों मामला कैबिनेट में नहीं आने से उन्होंने स्वास्थ्य मंत्री के घर पर भी प्रदर्शन किया था। बता दें कि प्रदेश के अस्पतालों से बाइस सौ नर्सिंग पैरामेडिकल कर्मचारी हटाए गए हैं जिनमें 612 कर्मचारी दून अस्पताल के शामिल है वह पिछले डेढ़ माह से आंदोलन कर रहे हैं। कहा कि मंत्री से उनकी वार्ता हुई है, उम्मीद है जल्द उनके हक में सरकार फैसला लें। उधर दून मेडिकल कॉलेज से एक रिमाइंडर शासन को भेजा गया है। जिसमें कर्मचारियों की कमी बताई गई है।