कारोबारियों को उम्मीद, इस दिवाली बाजार में खरीदारी बढ़ने की संभावना

नई दिल्ली. कोरोना और लॉकडाउन (Lockdown) के चलते मंदी की मार झेल रहे देशभर के बाज़ारो को इस दिवाली से खासी उम्मीदें हैं. कारोबारियों की यह उम्मीदें बेजा नहीं हैं. सरकार की LTC को कैश में बदलने और कर्मचारियों को 10 हज़ार रुपये का एडवांस पेमेंट करने की घोषणा के चलते कई महीनों से खाली बैठे कारोबारियों में एक नई उम्मीद जागी है. इससे एक तरफ जहां बीते कई महीनों से घर मे कैद आम जनता को खुशियों भरे कई बड़े त्यौहारों के लिए खुलकर खरीदारी करने का मौका मिलेगा तो वहीं इन दोनों सरकारी स्कीम से कारोबारियों के हाथ में रकम आएगी.

कारोबारियों को बाज़ार में ऐसे फायदे मिलेगा
इन दो सरकारी स्कीम को कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) के राष्ट्रीय अध्यक्ष बीसी भरतिया एवं राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल का मानना है ​कि उपभोक्ता द्वारा खर्च बढ़ाने के लिए सरकार की नई एलटीसी कैश वाउचर योजना के चलते गिरते बाज़ार को मजबूती मिलेगी. इससे पिछले कई महीनों से निराश बैठे और नुकसान उठा रहे व्यापारियों को थोड़ी राहत मिलने की उम्मीद है.

लोगों द्वारा पिछले सात महीनों में की गई थोड़ी बचत
केंद्र सरकार द्वारा हाल ही में सरकारी कर्मचारियों को एलटीसी को नकद में बदलने का आदेश और त्यौहारों से पहले 10 हज़ार रुपये का अग्रिम भुगतान और व्यापारियों द्वारा चीन से दिवाली त्यौहार सीजन पर प्रतिवर्ष होने वाली खरीद का सारा पैसा देश में ही खर्च करने के चलते आगामी 31 मार्च 2021 तक देश के बाज़ारों में लगभग 2 लाख करोड़ रुपये खर्च होने की उम्मीद है. इसे लेकर देशभर के देशभर के व्यापारी खासे उत्साहित हैं.

30 फीसदी तक पटरी पर लौटा कारोबार
राष्ट्रीय अध्यक्ष बीसी भरतिया और राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने बताया कि इस दिवाली से देशभर के बाज़ार और कारोबारियों को काफी उम्मीद हैं. कोरोना के चलते बाज़ार और व्यापार पूरी तरह से बंद पड़े थे. लेकिन लॉकडाउन खुलने के बाद से अब तक व्यापार में 30 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. लेकिन देशभर में व्यापार अभी तक पटरी पर नही लौट पाया है. पर इस दिवाली फेस्टिवल सीजन से बाज़ार में खरीदारी बढ़ने की पूरी संभावना है.