Friday, March 1, 2024
HomeTrending Nowमिला सुसाइड नोट : गरीबी और उधारी की वजह बनी मां और...

मिला सुसाइड नोट : गरीबी और उधारी की वजह बनी मां और तीन बच्चों की आत्महत्या

बागेश्वर, बागेश्वर के जोशी गांव में हुई शादीशुदा महिला ने अपने तीन मासूम बच्चों के साथ इस खौफनाक कांड से पूरा गांव दंग रह गया था। पुलिस ने विगत दो दिन पूर्व जोशी गांव में महिला और 3 बच्चों की आत्महत्या के मामले में कोतवाल को लाइन हाजिर किया गया है। इसके अलावा मौके से एक सुसाइड नोट बरामद किया गया है।
इस मामले में मृतक महिला के पति भूपाल नाम से भी पूछताछ की जा रही है। घर की तलाशी के दौरान एक सुसाइड नोट मिला है, जिसमें कक्षा आठ में पढ़ने वाली मृतका अंकिता ने लिखा था कि आर्थिक तंगी और देनदारी की वजह से ही परिवार परेशान था। हालांकि पुलिस को कमरे से सल्फास नुमा कोई चीज भी मिली है जिससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि सभी ने जहर खाकर खुदकुशी कर ली। पुलिस का कहना है कि इससे पहले भूपाल राम के घर कुछ लोग पैसे मांगने आ रहे थे। सुसाइड नोट में घर आकर पैसा मांगने वाले कुछ लोगों के नाम भी लिखे हुए हैं। सुसाइड नोट की राइटिंग मिलाने के लिए आठवीं कक्षा में पढ़ने वाली अंकिता की कॉपी भी ली गई है।

राइटिंग का मिलान एक्सपर्ट से कराया जाएगा। पिता भूपाल राम देनदारी को लेकर भागता रहा और उसने बच्चों का प्यार भी खो दिया। बताया जा रहा है कि घर पर लगातार लोग उधारी मांगने आ रहे थे। ऐसे में भूपाल राम की पत्नी नंदी देवी मानसिक दबाव में थी। भोपाल राम का परिवार बेहद गरीब है। लोगों से पैसा मांग कर अपना काम चला रहा था। भूपाल राम ढोल बजाने का काम भी करता था और टैक्सी भी चला लेता था। पहले भोपाल राम ने लोगों से उधार मांगा और फिर नौकरी लगाने के नाम पर ठगी करने लगा। कमाई का कोई साधन नहीं होने के कारण वह इस खेल में नाकाम रहा। उसने परिवार को खुश रखने की काफी कोशिश की लेकिन देनदारी ही ज्यादा होने की वजह से उसे लोगों की धमकी मिलती रही है। ऐसे में भोपाल राम भाग गया और घर चलाने का सारा जिम्मा पत्नी के कंधे पर चला गया। ऐसे में पत्नी ने तीन मासूम बच्चों के साथ खुदकुशी करने की ठान ली और हमेशा के लिए दुनिया से चली गई।

शादीशुदा महिला ने अपने तीन मासूम बच्चों के साथ इस खौफनाक कांड से पूरा गांव दंग रह गया था। कमरे में महिला समेत चार लोगों की लाशें मिलने के बाद पुलिस भी हैरान हो गई। हत्या और आत्महत्या की गुत्थी के बीच इस मामले का खुलासा करने के लिए पुलिस पर भी काफी दबाव था। घटना के बाद से पति के लापता होने के बाद पुलिस हर एंगल पर फोकस कर जांच करने में जुटी हुई थी। लेकिन, दो दिन की कड़ी मेहनत और सुराग की मदद से पुलिस ने इस कांड का खुलासा करने में कामयाबी हासिल कर ली।

बागेश्वर के घिरौली जोशीगांव की महिला और उसके तीन बच्चों ने स्थानीय पुलिस और कर्ज वसूली वालों से त्रस्त होकर आत्महत्या की थी। पुलिस ने महिला की बेटी की ओर से लिखे गए छह पेज का सुसाइड नोट बरामद किया गया है। जिसमें स्थानीय पुलिस पर सहयोग नहीं करने और कर्ज वसूली के लिए घर पर आने वालों के नाम लिखे हैं। बागेश्वर के एसपी हिमांशु कुमार वर्मा ने बागेश्वर के कोतवाली प्रभारी को लाइन हाजिर कर दिया है। एसपी हिमांशु कुमार वर्मा ने खुलासा करते हुए बताया कि पुलिस को एक सुसाइड नोट मिला है, जिसे महिला की तेरह साल की बेटी अंजलि ने लिखा है।

सुसाइड नोट में आर्थिक तंगी और देनदारी से परिवार के परेशान रहने जैसी बात लिखी है। अंजलि ने लिखा है कि उसकी मां नंदी देवी इसे लेकर मानसिक रूप से परेशान और दबाव में थी । पिता भूपालराम कर्ज वसूली के लिए घर पर आ रहे लोगों से परेशान थे। एसपी ने बताया कि मामले की विवेचना कपकोट कोतवाली और सीओ को सौंपी गई है। स्थानीय पुलिस के स्तर से लापरवाही के आरोप की विभागीय जांच की जा रही है। सुसाइड नोट की भी जांच कराई जा रही है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments