बेटी को प्रेमी संग आपत्तिजनक हालत में देख कुल्हाड़ी से काटा, प्रेमिका की मौत, प्रेमी ने भी तोड़ा दम

इटावा, इटावा में तीन दिन पहले प्रेमी युगल को कुल्हाड़ी से काटे जाने के मामले में घायल प्रेमी अवधेश यादव ने सोमवार सुबह सैफई पीजीआई के आईसीयू में दम तोड़ दिया। वहीं आरोपी पिता ने पुलिस और कोर्ट के सामने अपने जुर्म को कबूल कर लिया है। थाना प्रभारी निरीक्षक जेपी सिंह ने बताया कि सीजेएम कोर्ट में पेश करने पर आरोपी पिता फफक कर रो पड़ा। उसने साफ तौर पर कहा कि उसे बेटी की हत्या करने का कोई मलाल नहीं है। सहनशीलता जवाब दे गई थी, लिहाजा उसने ऐसा कदम उठाया।

थाना क्षेत्र के वैदपुरा गांव में गत शुक्रवार को घटी इस लोमहर्षक घटना को लेकर ग्रामीण अब दबी जुबान से प्रेमी युगल की चर्चा कर रहे हैं। मृतका पूजा और अवधेश के बीच महज छह महीने में प्यार परवान चढ़ा था। दोनों एक दूसरे से जुदा होने को तैयार न थे। पूजा के परिजनों को पांच महीने पहले ही इसकी भनक लग चुकी थी। अवधेश के घरवालों से भी शिकायत की गई थी। इसके बाद भी दोनों के बीच दूरियां कम नहीं हुईं। इस घटना के 15 दिन पहले पूजा और अवधेश को एक खेत में मिलते हुए लड़की के घरवालों ने देख लिया था। अवधेश के बड़े भाई सुखवीर को फोन से चेतावनी भी दी गई थी कि वह अपने भाई को समझा ले।

गत शुक्रवार को हुई घटना बीते महीनों में पैदा हुए गुस्से का परिणाम माना जा रहा है। गत शुक्रवार को प्रधान के बंद मकान में पूजा और अवधेश दो बार मिलने पहुंचे थे।  दूसरी बार मिलने पहुंची पूजा अवधेश के लिए घर से कटोरी में दही लेकर आई थी। तभी पूजा के पिता एवं भाइयों ने दोनों को पकड़ लिया। बताया जा रहा कि परिजनों ने पहले अपनी ही लड़की को बंद मकान के बाहर गली में पीटना शुरू किया तो अवधेश बचाने के लिए सामने आ गया। इससे गुस्साए परिजनों ने अवधेश को पीटना शुरू कर दिया। इसे देखकर पूजा उसे बचाने लगी।

इसे परिजन बर्दाश्त नहीं कर पाए और पहले पूजा को ही कुल्हाड़ी के वार से काट दिया। अवधेश को मरणासन्न कर दिया। गत शनिवार को आरोपी पिता गिरीश यादव और पुत्र को जब थानाध्यक्ष जेपी सिंह ने गिरफ्तार करके बेटी को मारने का कारण पूछा तो गिरीश यादव ने उन्हें बताया कि बेटी ने उसे समाज में नीचा दिखाया था। उसकी सारी सहनशीलता खत्म हो गई थी और उसने यह कदम उठाया। थानाध्यक्ष ने बताया कि आरोपी पिता ने सीजेएम के समक्ष बेटी की हत्या करना स्वीकार भी किया है। उधर, गंभीर रूप से घायल अवधेश अभी भी सैफई के आईसीयू में भर्ती है।