Saturday, May 18, 2024
HomeTrending Nowयुवा सशक्तिकरण "विषय पर दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन

युवा सशक्तिकरण “विषय पर दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन

नरेंद्र नगर,  धर्मानंद उनियाल राजकीय महाविद्यालय नरेंद्र नगर की राष्ट्रीय सेवा योजना यूनिट द्वारा आगामी 25- 26 नवंबर को” उद्यमिता और कौशल विकास के माध्यम से युवा सशक्तिकरण “विषय पर दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया जा रहा है।
माइक्रो ,स्मॉल एंड मीडियम एंटरप्राइजेज(एम एस एम ई) मंत्रालय भारत सरकार के अंतर्गत उद्योग निदेशालय उत्तराखंड एवं जिला उद्योग केंद्र नरेंद्र नगर, टिहरी गढ़वाल के द्वारा संगोष्ठी को प्रायोजित किया जा रहा है।
दो दिवसीय इस राष्ट्रीय संगोष्ठी के प्रथम दिवस 25 नवंबर को कार्यक्रम की मुख्य अतिथि उत्तराखंड सरकार के वन ,भाषा, तकनीकी शिक्षा मंत्री , सुबोध उनियाल होंगे। विशिष्ट अतिथि के रूप में नगर पालिका परिषद नरेंद्र नगर के अध्यक्ष राजेंद्र विक्रम सिंह पवार , एवं मुख्य संरक्षक के रूप में प्रोफेसर पी पी ध्यानी कुलपति श्री देव सुमन उत्तराखंड विश्वविद्यालय ,प्रोफेसर प्रवीण जोशी निदेशक उच्च शिक्षा उत्तराखंड तथा संरक्षक के रूप में प्रोफेसर राजेश कुमार उभान प्राचार्य धर्मानंद उनियाल राजकीय महाविद्यालय नरेंद्र नगर कार्यक्रम की शोभा बढ़ाएंगे। वही संगोष्ठी के संयोजक के रूप में डॉक्टर संजय कुमार कार्यक्रम अधिकारी एनएसएस यूनिट नरेंद्र नगर प्रमुख रूप से मौजूद रहेंगे।
संगोष्ठी के सफल आयोजन के लिए महाविद्यालय स्तर पर लगभग 12 समितियों का गठन किया गया है। पंजीकरण और प्रमाण पत्र लेखन समिति से प्राप्त जानकारी के अनुसार आयोजन सचिव डॉक्टर राजपाल सिंह रावत एवं डॉक्टर शैलजा रावत ने बताया कि 24 नवंबर तक देश के विभिन्न भागों से प्राध्यापकों, वैज्ञानिकों तथा शोध छात्रों द्वारा द्वारा 50 से अधिक शोध पत्र 150 से अधिक शोध -सार प्राप्त हो चुके हैंतथा 200 से अधिक विद्वानों द्वारा संगोष्ठी के लिए पंजीकरण किया गया है।
“यूथ एंपावरमेंट थ्रू एंटरप्रेन्योरशिप एंड स्किल डेवलपमेंट”विषयक इस संगोष्ठी की धूरी में 2 दिनों तक पर्वतीय क्षेत्रों के लिए उद्यमिता और कौशल विकास योजनाएं, पर्वतीय क्षेत्रों में हथकरघा और कुटीर उद्योग, कौशल विकास और उद्यमिता से ग्रामीण क्षेत्रों का रूपांतरण, सतत इको -टूरिज्म की सहायता से रोजगार सृजन, युवाओं का सतत एवं समावेशी विकास, उप -विषयों पर विशेष मंथन होगा।
दो दिवसीय इस संगोष्ठी के अलग-अलग सत्रों में भारत में युवाओं के लिए स्वरोजगार योजनाएं, महिला उद्यमिता, राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 और कौशल विकास, व्यवसायिक शिक्षा और कौशल विकास, बौद्धिक संपदा अधिकार एवं एम एस एम ई जैसे विषय शोधार्थियों की चर्चा के केंद्र में रहेंगे।
‘वादे -वादे जायते तत्त्व बोध:’की उक्ति को आत्मसात करने के उद्देश्य से आयोजित इस युवा सशक्तिकरण संगोष्ठी के मंथन से नई अवधारणा और स्थापना के अवसर पर प्रोफेसर एनपी माहेश्वरी पूर्व निदेशक उच्च शिक्षा उत्तराखंड एवं अधिष्ठाता प्राचार्य राजकीय महाविद्यालय नरेंद्र नगर, प्रोफेसर जीएस रजवार पूर्व प्राचार्य, प्रोफेसर जानकी पवार, प्राचार्य राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय कोटद्वार , प्रोफेसर के एल तलवाड़ प्राचार्य राजकीय महाविद्यालय चकराता ,प्रोफेसर सुमिता श्रीवास्तव प्राचार्य राजकीय महाविद्यालय नैनबाग के अलावा देश भर के विद्वान बड़ी संख्या में मौजूद रहेंगे। कार्यक्रम को लेकर आयोजक, प्रायोजक एवं छात्र-छात्राएं विशेष रुप से उत्साहित है ।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments