कोटद्वार : गोवंश हत्या के मामले में पुलिस ने आठ लोगों को किया गिरफ्तार

कोटद्वार, नगर निगम क्षेत्र के गाड़ीघाट में बीते 19 अप्रैल को गौवंश का कटा सर मिला था जिसके बाद हिंदू संगठनों की तहरीर के आधार पर पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी थी। बुधवार को इस मामले में पुलिस ने खुलासा किया है।

अपर पुलिस अधीक्षक मनीषा जोशी ने खुलासा करते हुए बताया कि मामले में संलिप्त 08 अभियुक्तों मौ0 इमरान पुत्र अब्दुल रसीद निवासी- पठानपुर, थाना- नजीबाबाद जनपद बिजनौर (उ.प्र.) उम्र- 21 वर्ष, नौशाद उर्फ दिल्लू पुत्र युसूफ निवासी- पठानपुर, थाना- नजीबाबाद जनपद बिजनौर (उ.प्र.) उम्र- 20 वर्ष, मौ0 नदीम पुत्र भूरा निवासी- पठानपुर, थाना- नजीबाबाद जनपद बिजनौर (उ.प्र.) उम्र- 19 वर्ष, मौ0 अमन उर्फ बादल पुत्र भूरा निवासी- पठानपुर, थाना- नजीबाबाद जनपद बिजनौर (उ.प्र.) उम्र- 20 वर्ष, आजम पुत्र रईस निवासी- पठानपुर, थाना- नजीबाबाद जनपद बिजनौर (उ.प्र.) उम्र- 20वर्ष, अफजल पुत्र अय्यूब उर्फ बॉबी निवासी- कलहेड़ी मुबारकपुर थाना नजीबाबाद उ.प्र. उम्र-19 वर्ष, मुन्नी निवासी लकड़ीपड़ाव थाना कोटद्वार जनपद पौड़ी गढ़वाल व अरबाज पुत्र इलीयास निवासी लकड़ीपड़ाव थाना कोटद्वार जनपद पौड़ी गढ़वाल को मौ. इरफान के किराये के कमरे गाड़ीघाट कोटद्वार से घटना में प्रयुक्त 02 छुरा, 01 गंडासा व 02 रस्सी के साथ गिरफ्तार किया गया।

अभियुक्तगणों ने पूछताछ में बताया कि लॉकडाउन की वजह से रोजगार न होने के कारण गौकशी कर गौ मांस को बेचकर हम लोगो ने धन अर्जित करने का विचार बनाया और 18 अप्रैल की रात को मौ0इमरान के कमरे के पास एक बछडे को काट कर उसका मांस लकड़ीपडाव में जरीफन उर्फ मुन्नी को बेच दिया था अवशेष ठिकाने लगाने के समय बछडे का शिर रास्ते मे गिर गया था और शेष अवशेष हमने नहर में बहा दिये थे और हम पुलिस से बचने के लिए नजीबाबाद (उ.प्र.) भाग गये थे। अभियुक्तों के आपराधिक इतिहास की जानकारी की जा रही है। एक वांछित अभियुक्त फैजान उर्फ बिहारी पुत्र खुर्शीद निवासी- पठानपुर, थाना- नजीबाबाद जनपद बिजनौर (उ.प्र.) को भी जल्दी ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा