उत्तराखंड में पहली सबजूनियर -जूनियर फीडर टूर गोल्फ प्रतियोगिता का समापन्न , उत्तराखंड के समृद्ध एवं उत्कर्ष बने विजेता

देहरादून, उत्तरांचल गोल्फ फेडरेशन के सौजन्य से भारतीय गोल्फ संघ द्वारा सब-जूनियर, जूनियर फीडर टूर इवेंट का दो और तीन अक्टूबर 2021 तक प्रतिष्ठित एफआरआई एमऐ गोल्फ कोर्स में आयोजित किया गया । यह पहली बार था जब इस तरह के एक प्रतिष्ठित भारतीय गोल्फ यूनियन टूर्नामेंट का आयोजन यहां किया गया | पूरे उत्तर भारत विशेष रूप से हरियाणा, दिल्ली-एनसीआर, जम्मू-कश्मीर, पंजाब, राजस्थान और उत्तराखंड जैसे राज्यों के 70 से अधिक जूनियर गोल्फर ने इसमें भाग लिया। इस टूर्नामेंट में 8 साल से अधिक उम्र के खिलाडियों को 5 अलग-अलग आयु वर्गों में बिभाजित किया गया जिन्हे 36 होल स्ट्रोक में एक-दूसरे के विरुद्ध प्रतिस्पर्धा करनी थी । इस प्रतिष्ठित भारतीय गोल्फ संघ के आयोजन में उत्तराखंड के 10 खिलाडियों ने भी प्रतिस्पर्धा की ।

टूर्नामेंट की शुरुआत ए. एस. रावत, आईएफएस (महानिदेशक, भारतीय वानिकी अनुसंधान और शिक्षा परिषद) द्वारा की गई । उनके साथ उत्तरांचल गोल्फ फेडरेशन के कार्यवाहक अध्यक्ष डॉ. राकेश शाह, वी. के. डंडोना (संरक्षक), डॉ. ए. के. गोयल (कोषाध्यक्ष), एम. एस. गबरियाल (सलाहकार) और टी.पी. सिंह थे ।

द्घाटन उद्बोधन के दौरान श्री रावत ने कहा “भारतीय गोल्फ संघ द्वारा आयोजित इस पहले आयोजन में इतनी बड़ी भागीदारी देखना बहुत उत्साहजनक है और यह आयोजन हमारे राज्य में गोल्फ को बढ़ावा देने में एक लंबा रास्ता तय करेगा। हम इस तरह के उत्साहजनक प्रयासों के साथ गोल्फ पर्यटन को भी प्रोत्साहन देंगे। हमें उम्मीद है कि भविष्य के चैंपियन इन्हीं प्रयासों से उभरकर आएंगे और ऐसा लगता है कि गोल्फ का हमारे राज्य में उज्ज्वल भविष्य है।

उत्तरांचल गोल्फ फेडरेशन के सचिव श्री हरीश ने कहा, “हमें खुशी है कि हमारा फेडरेशन देहरादून में एक भारतीय गोल्फ संघ कार्यक्रम लाने में सक्षम हुआ । हमें उम्मीद है कि इससे हमारे राज्य में गोल्फ और गोल्फ पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा और जूनियर खिलाड़ी खेल के प्रति आकर्षित होंगे। हम जूनियर गोल्फरों की एक पौध विकसित करने की उम्मीद करते हैं जो राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय चैंपियनशिप में प्रतिस्पर्धा कर सकें । इसके लिए, हम देहरादून में एक सार्वजनिक गोल्फ रेंज शुरू करने की योजना बना रहे हैं, जो आम आदमी के लिए सस्ती दरों पर गोल्फ को सुलभ बनाएगी।

अंत में, श्री अभिमन्यु परमार, टूर मैनेजर भारतीय गोल्फ संघ सब-जूनियर/जूनियर फीडर ने कहा कि “देहरादून में अपना पहला कार्यक्रम आयोजित करना हमारे लिए सम्मान की बात है। हमें उम्मीद है कि हम हर साल यहां आकर गोल्फ के बारे में जागरूकता फैलाएंगे और अच्छी प्रतिभाओं की पहचान करेंगे और नवोदित जूनियर गोल्फरों को अच्छा मंच देंगे।

आयोजन के अंतिम दिन मुख्य अतिथि श्री मनोज बर्थवाल (ईडी, ओएनजीसी अकादमी) द्वारा विजेताओं को पुरुष्कार प्रदान किये गए | इस अवसर पर उन्होंने कहा कि पूरे उत्तर भारत के युवा गोल्फरों को देहरादून आते और ऐसे स्वस्थ वातावरण में प्रतिस्पर्धा करते हुए देखना उत्साहजनक है। मैं खुद एक उत्साही गोल्फ खिलाड़ी होने के नाते इस तरह की युवा प्रतिभाओं को इतना अच्छा करते हुए देखकर मुझे बहुत सकारात्मकता महसूस होती है । ओएनजीसी की ओर से हम भविष्य के प्रयासों के लिए सभी आवश्यक समर्थन देंगे ताकि इस क्षेत्र में गोल्फ को बढ़ावा दिया जा सके।

यह उत्तराखंड के लिए गर्व का क्षण था क्योंकि दो गोल्फरों समृद्ध चंद ठाकुर तथा उत्कर्ष नेगी ने पहला स्थान हासिल कर इस राज्य का नाम रौशन किया। इन दोनों ने दिल्ली, चंडीगढ़, पंजाब और अन्य राज्यों के गोल्फरों को कड़ी टक्कर दी | अन्य परिणाम इस प्रकार रहे :

‘बी’ श्रेणी में चंडीगढ़ के अयस कुमार पहले और अमित दूसरे नंबर पर रहे | ‘बी’ श्रेणी (बालिका) में हुनर ​​बरार; ‘सी’ श्रेणी (बालक) में विहान जैन; ‘सी’ श्रेणी (बालिका) में महरीन भाटिया; ‘डी’ श्रेणी (बालिका) में रबाब कहलों; ‘ई’ श्रेणी (बालक) में कृष्णव गुप्ता एवं ‘ई ‘ श्रेणी (बालिका) में ओजस्वनी ने प्रथम स्थान प्राप्त किया |