पर्यटक स्थल देवरियाताल महोत्सव में धूमधाम से मनाई गई जन्माष्टमी

रुद्रप्रयाग- प्रसिद्ध पर्यटक स्थल देवरियाताल में देवरियाताल महोत्सव में कृष्ण जन्माष्टमी धूमधाम से मनाई गई। इस दौरान ऊखीमठ क्षेत्र के तीन स्थानों से पहुंची श्रीकृष्ण की झांकियां भक्तों के आकर्षण का केन्द्र रही।
महोत्सव में स्थानीय महिला मंगल दल एवं स्कूली छात्रों की रंगारंग सांस्कृतिक प्रस्तुति ने देर शाम तक समा बांधे रखा। कार्यक्रम में विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य पर तीस लोगों को सम्मानित भी किया गया।
कृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर आयोजित होने वाले देवरियाताल महोत्सव का आज विधायक प्रतिनिधि भाजपा जिला महामंत्री अनूप सेमवाल, मेला समिति के अध्यक्ष चंडी प्रसाद भटट, मेलाधिकारी एसडीएम जितेन्द्र वर्मा, नगर पंचायत ऊखीमठ अध्यक्ष विजय राणा, हेमा पुष्पाण ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया।
मेले में भूतनाथ मंदिर सारी, नागराजा मंदिर गेड मनसूना एवं ओंकारेश्वर मंदिर ऊखीमठ क्षेत्र से पहुंची भगवान श्रीकृष्ण की झांकियां चार कि.मी. खड़ी चढ़ाई पार करने के बाद देवरियाताल पहुंची। श्रीकृष्ण की तीनों झांकियों के साथ विभिन्न पारंपरिक परिधानों में पहुंची महिलाओं ने मांगल गीतों एवं भजनों के साथ देवरियाताल की परिक्रमा की, जो भक्तों के आकर्षण का केन्द्र रही। इस दौरान भक्तों के जयकारों से क्षेत्र का पूरा वातावरण भक्तिमय हो उठा।
इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में विधायक प्रतिनिधि अनूप सेमवाल ने कहा कि यह मेला क्षेत्रीय लोगों की आस्था से जुड़ा हुआ है। जिसके संरक्षण के लिए सभी लोगों को आगे आने की जरूरत है। मेलाध्यक्ष चंडी प्रसाद भटट ने कहा कि दो वर्षो तक कोविड के चलते मेला स्थगित रहा, लेकिन अब इस मेले को भव्य रूप दिया गया। उन्होंने कहा कि नाग देवता के प्राचीन मंदिर का जीर्णोद्वार करने का प्रयास किया जाएगा। ताल की सुरक्षा के लिए रेलिंग लगाने की मांग की।
मेलाधिकारी एसडीएम ने कहा कि संस्कृति विभाग के तहत मेले को मनाया जा रहा है। कहा कि संवेदनशील स्थान होने के कारण वन विभाग के सहयोग से देवरियाताल की सुन्दरता को बनाए रखने के लिए प्लास्टिक उन्मूलन किया जा रहा है।
उत्तराखंड संस्कृति विभाग के कलाकारों के साथ-साथ महिला मंगल दल एवं युवक मंगल दल एवं स्कूली छात्रों की ओर से रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुतियां दी गई। इस दौरान गायक सौरभ मैठाणी ने तू रेंदी मां भजन एवं जागर गायिका रामेश्वरी भटट की जागर ने भक्तों को झूमने पर मजूबर कर दिया। जिला प्रशासन एवं वन विभाग के सहयोग से रिसाइकल कंपनी ने यात्रा मार्ग पर क्यू आर कोड से प्लास्टिक निस्तारण से प्लास्टिक कूडा एकत्रित किया।
इस अवसर पर मेला सचिव चन्द्रमोहन उखियाल प्रकाश रावत, आचार्य कृष्णानंद नौटियाल, बबलू जंगली, जिपंस विनोद राणा, सारी प्रधान मनोरमा देवी, संदीप पुष्पाण, जीएस भट्ट, व्यापार मंडल अध्यक्ष राजीव भट्ट मनोज नेगी, सदानंद भट्ट समेत कई सैकडों भकतजन उपस्थित थे।