मुम्बई : लोको पायलट्स की सूझबूझ से बची जान, पटरी पार करते समय गिरकर ट्रेन के नीचे फंसे थे बुजुर्ग

मुंबई, कहते हैं ‘जाको रखे साइयां मार सके न कोई, भगवान ने हर इंसान की सांसे लिखी हैं उसकी मर्जी से कोई भी चल नहीं सकता, तभी तो मुम्बई के कल्याण रेलवे स्टेशन पर रेल की पटरियां पार करते हुए एक वरिष्ठ नागरिक की जान उस समय बच गई जब रेलवे के एक अधिकारी द्वारा आगाह किये जाने पर मुंबई-वाराणसी ट्रेन के चालकों ने समय रहते इमरजेंसी ब्रेक लगा दिया. मध्य रेलवे ने यह जानकारी दी.

महाराष्ट्र के ठाणे जिले में स्थित कल्याण रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म संख्या चार पर लगभग अपराह्न 12 बजकर 45 मिनट पर ट्रेन चलना शुरू हो गई थी जब यह घटना हुई.

मध्य रेलवे की ओर से जारी एक बयान में कहा गया कि हरि शंकर उस समय रेल की पटरी पार कर रहे थे और वह गिर कर ट्रेन के नीचे फंस गए. चीफ परमानेंट वे निरीक्षक संतोष कुमार ने लोको पायलट एस के प्रधान और सहायक लोको पायलट रवि शंकर जी. को चिल्लाकर आगाह किया. दोनों ट्रेन चालकों ने तत्काल इमरजेंसी ब्रेक लगाया और ट्रेन के नीचे से वृद्ध को निकाला.

घटना के बाद मध्य रेलवे ने परामर्श जारी कर लोगों से रेल की पटरी पार न करने का आग्रह किया और चेतावनी दी यह घातक हो सकता है. मध्य रेलवे के महाप्रबन्धक आलोक कंसल ने दोनों ट्रेन चालकों और चीफ परमानेंट वे निरीक्षक को दो-दो हजार रुपये का पुरस्कार देने की घोषणा की.