Monday, June 24, 2024
HomeStatesUttarakhandलोक सेवा आयोग से चयनित 57 सहायक अभियोजन अधिकारियों को सीएम धामी...

लोक सेवा आयोग से चयनित 57 सहायक अभियोजन अधिकारियों को सीएम धामी ने नियुक्ति पत्र किये प्रदान

देहरादून, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने उत्तराखण्ड लोक सेवा आयोग से चयनित 57 सहायक अभियोजन अधिकारियों को नियुक्ति पत्र प्रदान किये। सचिवालय में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने सभी चयनित अभ्यर्थियों को शुभकामनाएं दी और उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की है |
मुख्यमंत्री ने चयनित सभी सहायक अभियोजन अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि ईश्वर ने आपको ऐसा कार्यक्षेत्र दिया है, जिसमें कार्य करने की बहुत संभावनाएं हैं। उन्होंने आशा व्यक्त की सभी अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन पूरी ईमानदारी एवं कर्तव्यनिष्ठा के साथ करेंगे। कार्यक्षेत्र में आने वाली चुनौतियों का सामना जिम्मेदारी पूर्वक करेंगे। उन्होंने कहा कि देवभूमि उत्तराखण्ड की सेवा का अवसर मिलना सौभाग्य की बात है।
मुख्यमंत्री ने सभी चयनित अभ्यर्थियों में अभिभावकों, गुरुजनों और मार्गदर्शकों को भी बधाई दी। उन्होंने कहा कि किसी भी व्यक्ति की सफलता के लिए इनकी महत्वपूर्ण भूमिका होती है।

चयनित अभ्यर्थियों पर जन सेवा की अहम जिम्मेदारी:

मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी चयनित अभ्यर्थियों पर जन सेवा की अहम जिम्मेदारी है। अपने कार्यक्षेत्र में मन में पूर्णतः जिम्मेदारी का भाव होना जरूरी है। सच्चे और अच्छे मन से कार्य हों, तो इससे बड़ी आत्म संतुष्टि मिलती है। उन्होंने सभी चयनित अभ्यर्थियों को अपने कार्य क्षेत्र में नवाचार एवं तकनीकि के बेहतर उपयोग के लिए प्रेरित किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा उत्तराखण्ड को 2025 तक देश के अग्रणी राज्यों की श्रेणी में लाने का लक्ष्य रखा गया है। इसके लिए हम सबको अपने-अपने कार्यक्षेत्र में सराहनीय कार्य कर प्रदेश के समग्र विकास के लिए अपना योगदान देना है।

इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी, पूलिस महानिदेशक अशोक कुमार, निदेशक अभियोजन पी.वी.के प्रसाद, सचिव एस.एन पाण्डेय, डीआईजी जन्मेजय खण्डूड़ी, अपर सचिव अतर सिंह एवं चयनित सहायक अभियोजन अधिकारियों के परिवारजन उपस्थित थे।

 

सांसद अनिल बलूनी ने की रेलमंत्री से मुलाकात, जल्द शुरू हो सकती है कोटद्वार-दिल्ली रात्रि ट्रेन

 

देहरादून/ नई दिल्ली, राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी ने आज संसद के विशेष सत्र के दौरान रेल मंत्री श्री अश्विनी वैष्णव के साथ पुनः मुलाकात की। दोनों नेताओं ने उत्तराखंड से संबंधित कई महत्वपूर्ण रेल प्रोजेक्ट्स पर चर्चा की। इससे पहले भी सांसद अनिल बलूनी ने रेलमंत्री से 01 सितम्बर को इन्हीं विषयों पर चर्चा की थी।
दोनों नेताओं के बीच जिन प्रोजेक्ट्स पर चर्चा हुई उनमें कोटद्वार- दिल्ली रेल और देहरादून लखनऊ के बीच हाई स्पीड रेल पर चर्चा बेहद अहम रही। वहीं कोटद्वार से दिल्ली के बीच रात्रि ट्रेन चलाने पर सकारात्मक चर्चा रही। उम्मीद जताई जा रही है कि ये ट्रेन जल्द परिचालन में आ जाये।

कोरोना काल के पहले तक गढ़वाल के द्वार कोटद्वार के लिए दिल्ली से यात्रा करने वाले यात्रियों के लिए मसूरी एक्सप्रेस ट्रेन में दो रेल डब्बे लगाए जाते थे। लेकिन कोरोना काल के बाद किन्हीं कारणों से ये डब्बे लगने बन्द हो गए। इसी संदर्भ में हाल ही में कोटद्वार व्यापार मंडल का एक प्रतिनिधिमंडल सांसद श्री अनिल बलूनी से मिला था। प्रतिनिधिमंडल ने कोटद्वार-दिल्ली के बीच जल्द रेल शुरू करवाने की मांग रखी थी।

रेल मंत्री से मुलाकात के दौरान सांसद अनिल बलूनी ने रेलों के परिचालन की समयसारिणी को पहाड़ पर जाने वाले यात्रियों की सुविधानुसार रखने का विशेष आग्रह भी किया।

 

उक्रांद का गैरसैण में सम्पन्न हुआ सम्मेलन, पूरण सिंह कठैत बने केंद्रीय अध्यक्ष

चमोली (गैरसैण), क्षेत्रीय दल उक्रांद में काफी समय से चल रही अध्यक्ष पद खबरों को आज विराम मिल गया, चमोली के गैरसैण में हुए उत्तराखंड क्रांति दल के सम्मेलन में पूरण सिंह कठैत को दल का नया नेता चुना लिया गया। दल के इतिहास में पहली बार मतदान के जरिये दल का अध्यक्ष चुना गया है।
चमोली के गैरसैण के श्री भुवनेश्वरी महिला आश्रम में आयोजित उत्तराखंड क्रांति दल के द्विवार्षिक महाधिवेशन में केंद्रीय अध्यक्ष पद के लिये पहली बार चुनाव हुआ। जिसमें अधिवेशन के दूसरे दिन रविवार को दल के नए नेता का चुनाव करने के लिए करीब 300 डेलीगेट्स ने अपने मत का प्रयोग किया। मतदान के बाद हुई मतों की गणना में पूरण सिंह कठैत को उत्तराखंड क्रांति दल का केंद्रीय अध्यक्ष घोषित किया गया। अध्यक्ष निर्वाचित होने के बाद नवनिर्वाचित अध्यक्ष ने आशा व्यक्त की कि इस प्रक्रिया के बाद उत्तराखंड क्रांति दल नए उत्साह और जोश के साथ आगे बढ़ेगा। अब देखना यह होगा कि प्रदेश की जनता की उम्मीदों पर नया अध्यक्ष मिलने पर उक्रांद कैसी रणनीति अपनाता है |

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments