उत्तरकाशी : जिलाधिकारी ने दिये निर्देश, पत्रावलियों और अभिलेखों का रखरखाव अच्छे ढंग से किया जाए

(रामचंद्र उनियाल) उत्तरकाशी, जिलाधिकारी ने मुख्य विकास अधिकारी कार्यालय, जिला विकास अधिकारी कार्यालय, पशुपालन, अर्थ एवं संख्या कार्यालय,समाज कल्याण, उरेडा, मत्स्य, ग्रामीण निर्माण विभाग, कृषि, उद्यान, सहकारिता, वन स्टॉप सेंटर, डेयरी, बाल विकास, स्वजल, पंचायतराज, ग्रामीण विकास,उद्योग पंचस्थानि कार्यालय का निरीक्षण किया।

निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने विकास भवन की साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखने के निर्देश दिए। कोरोना को लेकर जो भी गाइडलाइंस दी गई है उसका शत-प्रतिशत अनुपालन किया जाए। तथा सभी कार्मिकों को अनिवार्य रूप से मास्क पहनने को कहा गया। सभी कार्मिकों को स्पष्ट निर्देश दिए गए हैं कि पत्रावालियों व अभिलेखों का रखरखाव अच्छे ढंग से किया जाए तथा पटल पर आनी वाली पत्रावलियों का समय से निस्तारण करना सुनिश्चित किया जाय। किसी भी दशा में कोई भी कार्मिक अपने पटल पर पत्रवालियां लंबित न रखें। जिला समाज कल्याण अधिकारी को निर्देशित किया गया है की 60 वर्ष से ऊपर के सभी किसान व वृद्धा पेंशन लेने वाले लाभार्थी व उनकी पत्नी का अनिवार्य रूप से कोरोना टेस्ट करवाए जाए। ताकि उनमें कोरोना का भय न हो सके।

जिलाधिकारी ने समाज कल्याण विभाग द्वारा दी जा रही है किसान,वृद्धा, विधवा, तीलू रौतेली, बोना,परित्यागता आदि पेंशन की भी जानकारी ली। जिस पर जिला समाज का अधिकारी द्वारा बताया गया कि जनपद में करीब 32 हजार पेंशनकर्ताओं को विभिन्न प्रकार की पेंशन दी जा रही है तथा जून तक की क़िस्त सभी के खाते में डाली गई है। वर्तमान में अगली क़िस्त हेतु शासन को बजट की मांग की गई है। बजट आते ही पेंशनकर्ताओं को पेंशन की किस्त उनके खाते में डाल दी जाएगी।

निरीक्षण के दौरान मुख्य विकास अधिकारी पीसी डंडरियाल, परियोजना निदेशक डीआरडीए संजय कुमार सिंह, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर प्रलंयकर नाथ, मुख्य कृषि अधिकारी गोपाल सिंह भंडारी,सहायक निदेशक मत्स्य प्रमोद शुक्ला सहित अन्य अधिकारी भी मौजूद थे।