मिशन कश्मीर का दूसरा दिन, गृह मंत्री ने कहा- डरने की जरूरत नहीं, अब कोई आपके साथ अन्याय नहीं कर सकता

जम्मू कश्मीर, अमित शाह ने कहा कि मैं आज जम्मू ये कहने आया हूं कि जम्मू वालों के साथ अन्याय का समय समाप्त हो चुका है, अब कोई आपके साथ अन्याय नहीं कर सकता।
गृह मंत्री अमित शाह जम्मू पहुंचे। इस दौरान उनके साथ उपराज्यपाल मनोज सिन्हा भी मौजूद रहे। जम्मू में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि आज प्रेमनाथ डोगरा की जयंती है। भारत के लोग उन्हें नहीं भूल सकते। उन्होंने श्यामा प्रसाद मुखर्जी के साथ मिलकर नारा दिया कि एक देश में दो विधान, दो निशान, दो प्रधान नहीं चलेंगे। उन्होंने कहा कि मैं आज जम्मू ये कहने आया हूं कि जम्मू वालों के साथ अन्याय का समय समाप्त हो चुका है, अब कोई आपके साथ अन्याय नहीं कर सकता। यहां पर विकास का जो युग शुरू हो रहा है उसमें खलल पहुंचाने वाले, खलल डाल रहे हैं लेकिन विकास के युग में कोई खलल नहीं डाल पाएगा |

अमित शाह ने कहा कि अगर युवा जम्मू कश्मीर के विकास में शामिल होंगे, तो आतंकवादी अपने नापाक मंसूबों में विफल हो जायेंगे। जम्मू में एक रैली को संबोधित करते हुये शाह ने कहा, ‘‘जम्मू के लोगों को नजरअंदाज करने का वक्त अब समाप्त हो गया है, जम्मू और कश्मीर, दोनों का विकास अब साथ-साथ होगा।’’ उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर के विकास में कोई भी रोड़े नहीं अटका पाएगा। शाह ने कहा, ‘‘अगर युवा जम्मू कश्मीर के विकास में शामिल होंगे, तो आतंकवादी अपने नापाक मंसूबों में विफल हो जायेंगे।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ जम्मू कश्मीर में अब तक 12 हजार करोड़ रुपये का निवेश आ चुका है और हमारा लक्ष्य 2022 के अंत तक इसे 51 हजार करोड़ रुपये करने का है।’’

इससे पहले गृह मंत्री अमित शाह ने आईआईटी जम्मू के नए कैंपस का उद्घाटन किया। इस दौरान उनके साथ केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और उपराज्पाल मनोज सिन्हा भी मौजूद रहे। अमित शाह ने कहा कि शिक्षा किसी भी समाज व क्षेत्र की समृद्धि व विकास का मूल आधार है। इसी दिशा में आज जम्मू में IIT के नए कैंपस का उद्घाटन किया। नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद J&K के युवाओं की शिक्षा हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता रही है, IIT का ये नया कैंपस हमारे इसी संकल्प को दर्शाता है।