भारी बारिश से टूटी पहाड़ी मलबे में गौशाला ध्वस्त चार मवेशी जिन्दा दबे

(देवेन्द्र चमोली)
रुद्रप्रयाग – खबर जखोली विकास खण्ड के दूरस्थ छैत्र बुढ़ना की है यहां कल रात हुई भारी वारिस के कहर की मार गरीब कास्तकार आशा लाल को झेलनी पड़ी। आशा लाल की गौशाला पहाड़ी टूटने से मलबे मे तहस नहस हो गई व गौशाला में बंधी दो भैंस सहित चार मवेशी मलबे में जिन्दा दफन हो गई।
जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी नंदन सिंह रजवार ने बताया कि आज सुबह पुलिस चौकी जखोली से सूचना मिली कि बुडना के आशा लाल पुत्र दलेबू लाल की गौशाला पहाड़ी के टूटने से तहस नहस हो गई जिसमें उनकी भैस, गाय व बैल मलबे में दब गये है।
सूचना मिलते ही डीडीआरएफ टीम मौके के लिये रवाना हो गई, बजरा व मयाली मोटर मार्ग भी बंद होने के कारण डीडीआरएफ टीम की सूचना पर तुरंत जेसीबी मशीन भिजवा कर रोड खुलावाई गयी व टीम ने मौके पर जाकर बचाव कार्य शुरू किया। उन्होंने बताया कि गोशाला मे दो भैंस और एक गाय,एक बैल जो की पूर्ण रूप से मलवे मे दबे मिले। ग्राम प्रधान आरती देवी व स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने आशा लाल को हुये इस नुकसान का उचित मुआवजा देने की मॉग प्रशासन से की है।