देहरादून : वरिष्ठता के आधार पर भर्ती की मांग, नर्सिंग भर्ती का बहिष्कार करेंगी संविदा स्टाफ नर्स

देहरादून, सरकारी अस्पतालों में कार्यरत संविदा स्टाफ नर्सों ने 15 जून मंगलवार को आयोजित होने वाली स्टाफ नर्स भर्ती परीक्षा का बहिष्कार करने का निर्णय लिया है। उनका कहना है कि नर्सों की भर्ती वरिष्ठता के आधार पर कराई जानी चाहिए।

संविदा और बेरोजगार स्टाफ नर्स महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष हरीकृष्ण बिजल्वाण ने कहा कि राज्य के अस्पतालों में आउटसोर्स और एनएचएम के तहत बड़ी संख्या में बेरोजगार संविदा के तहत काम कर रहे हैं। इन सभी की नियुक्ति एक तय प्रक्रिया के तहत हुई है। कोविडकाल में जान जोखिम में डालकर काम करने के अलावा पिछले कई सालों से ये सभी कार्यरत हैं। राज्य में अभी तक स्टाफ नर्सों की भर्ती वरिष्ठता के आधार पर होती आई है।

ऐसे में नियमावली बदलकर नर्सेज भर्ती में खेल किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य के संविदा एवं बेरोजगार स्टाफ नर्स स्टाफ नर्स भर्ती परीक्षा का बहिष्कार करेंगे। बिजल्वाण ने कहा कि सरकार संविदा पर कार्यरत स्टाफ नर्स को जल्द नियमित करे। कैबिनेट मंत्री जोशी के आवास पर डटे बेरोजगार संविदा और बेरोजगार स्टाफ नर्स महासंघ से जुड़ी स्टाफ नर्स शनिवार को कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी के आवास पर पहुंच गई,

उन्होंने इस मामले में हस्तक्षेप कर परीक्षा निरस्त करने की मांग की। बिजल्वाण ने बताया कि कैबिनेट मंत्री जोशी ने उन्हें मुख्यमंत्री से मिलकर जल्द कोई समाधान निकालने का भरोसा दिलाया है।