दिल्ली में निर्माणाधीन ‘उत्तराखण्ड निवास’ का सीएम ने किया निरीक्षण, कहा-तय की गई निर्धारित समय सीमा में पूरा किया जाए कार्य

नई दिल्ली, उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने नई दिल्ली में निर्माणाधीन भवन ‘उत्तराखण्ड निवास’ का निरीक्षण किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि निर्माण कार्य, गुणवत्ता बनाए रखते हुए तय की गई निर्धारित समय सीमा में पूरा करना सुनिश्चित किया जाए। मुख्यमंत्री पुष्कर धामी द्वारा उत्तराखण्ड निवास के नक्शे का अवलोकन करते हुये भवन के सभी प्रावधानों की विस्तृत जानकारी ली।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कार्यदाई संस्था को निर्देशित करते हुए कहा कि नये बन रहे “उत्तराखंड निवास” में कार्य की सुगमता के दृष्टिकोण से उत्तराखंड स्थानिक आयुक्त कार्यालय व उत्तराखंड राज्य सूचना केंद्र को उक्त भवन में स्थापित किए जाने के संबंध में विचार किया जाये।

उल्लेखनीय है कि 3, गोपीनाथ बारदोलाई मार्ग, चाणक्यपुरी नई दिल्ली में जून 2020 से उत्तराखण्ड निवास का काम शुरू किया गया। भवन में तीन बेसमेन्ट होंगे। है। भवन में भू-तल को सम्मिलित करते हुए कुल सात तल बनाए जाएंगे। भवन उत्तराखण्ड वास्तुकला शैली में बनाया जायेगा। ग्रीन भवन की तर्ज पर बनाए जा रहे इस भवन का अपना सीवेज सोधन संयत्र होगा। भवन में 50 किलो वाट क्षमता का सोलर पावर प्लांट भी है। उत्तराखण्ड निवास का निर्माण कार्य संभावित 2023 तक पूरा कर लिया जायेगा।

इस अवसर पर सचिव आर मीनाक्षी सुंदरम, निदेशक सतर्कता अमित सिन्हा, अपर स्थानिक आयुक्त अजय मिश्रा व उत्तराखण्ड पेयजल निगम के सहायक अभियन्ता अरविन्द सैनी उपस्थित थे।

 

श्री सनातन धर्म धर्मार्थ समिति भजन गायकी प्रतियोगिता 2022 का भव्य शुभारम्भMay be an image of one or more people, people sitting, people standing and indoor

देहरादून, जनपद की प्राचीन धार्मिक और सामाजिक संस्था श्री सनातन धर्म धर्माथ समिति एवं श्री सनातन धर्म कन्या इंटर कॉलेज द्वारा ‘वार्षिक भजन गायन प्रतियोगिता 2022’ के शुभारंभ पर 40 विद्यालयों से आये लगभग 250 से अधिक प्रतिभागियों ने निःशुल्क रजिस्ट्रेशन के पश्चात ऑडिशन चरण में प्रस्तुति दी। भजन प्रतियोगिता को तीन वर्ग में विभाजित किया गया है।

भारतीय भक्ति संगीत को बढ़ावा

प्रतियोगिता के शुभारंभ पर श्री सनातन धर्म धर्मार्थ समिति के प्रधान राकेश ओबेरॉय ने सभी प्रतियोगियों का स्वागत करते हुए कहा कि भजन गायकी प्रतियोगिता का उद्देश्य भारतीय भक्ति संगीत को बढ़ावा देना और नई पीढ़ी में आध्यात्मिक संगीत के प्रति रुचि जगाना है। पिछले 5 वर्षों से इस प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है, और गत वर्षों की भांति इस वर्ष भी भजन गायकी में युवाओं की भजन गायन में रुचि देखकर हम उत्साहित हैं ।

विद्यालयीय छात्रों पर है केंद्रित

प्रतियोगिता की विस्तृत जानकारी देते हुए प्रतियोगिता की संयोजिका इंदु दत्ता ने बताया इस वर्ष की प्रतियोगिता में विद्यालयों में पढ़ने वाले छात्रों पर केंद्रित किया गया है ।
उन्होने बताया कि देहरादून और आसपास के शहरो से करीब 40 विद्यालयों ने इस प्रतियोगिता में भाग लिया है । इनमे हिमज्योति, वेल्हम ब्वॉयज, सेंट जोसेफ, दून इंटरनेशनल, एम के पी इंटर कॉलेज, कॉन्वेंट ऑफ जीसस एंड मेरी के साथ अन्य 40 विद्यालयों ने प्रतिभाग किया है।

छात्रों में छिपी हुई भजन गायन कलाओं को राष्ट्रीय स्तर पर उजागर करना ही प्रतियोगिता का प्रमुख उद्देश्य है। भजन गायन की यह प्रतियोगिता ऐसी प्रतिभाओं के लिए एक मील का पत्थर साबित हो रहा हैं जिससे वह अपने भजन गायन को विकसित करते हुए रोजगार के साथ अपनी प्रतिभा के बल पर आर्थिक उन्नयन के शिखर को प्राप्त कर सकते हैं।

भव्य होगा ग्रैंड फिनाले

वार्षिक भजन प्रतियोगिता का सेमीफाइनल राउंड 09 अगस्त 2022 को गीता भवन देहरादून में आयोजित किया जाएगा एवं ग्रैंड फिनाले 13 अगस्त को आयोजित किया जाएगा ।

इस अवसर पर राकेश ओबेरॉय, विपिन नागलिया, गुलशन खुराना, यशवंत दत्ता, जितेन्द्र कपूर, राजू पूरी, धर्मी मिश्रा एवं इंदु दत्ता उपस्थित रहे ।

 

पहला देशभक्ति गढ़वाली गीत ‘बंदे मांतरम्’ का कैबिनेट मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल और पदम् श्री प्रीतम भरतवाण ने किया लोकार्पणMay be an image of 9 people and people standing

देहरादून। डेवलपमेंट इन रूरल एम्बॉसमेंट एंड मोटिवेशन सोसाइटी ‘ड्रीम्स‘ ने पांच अगस्त को पहले गढ़वाली देशभक्ति गीत की लांचिंग की। गीत का लोकार्पण कैबिनेट मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल, जागर सम्राट पदम् श्री प्रीतम भरतवाण ने किया। इस मौके पर उत्तराखंड फ़िल्म इंडस्ट्रीज से जुड़े कलाकरों के साथ ही गणमान्य लोग व गीत से जुड़े कलाकार मौजूद थे। इस गीत को संस्था के यू-ट्यूब चौनल एसपीसी पर देखा जा सकता है। इस दौरान फ़िल्म निर्माण के साथ ही समाजसेवा में उत्कृष्ठ कार्य करने वाले ब्यक्तियों को भी सम्मानित किया गया।

इस मौके पर कैबिनेट मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल ने ड्रीम्स संस्था के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा उत्तराखंड सरकार लोकसंस्कृति के संरक्षण और संवर्धन को लेकर लगातार काम कर रही है। उन्होंने कहा मुझे उत्तराखंड की लोकसंस्कृति बोली-भाषा से बेहद लगाव है। विधानसभा अध्यक्ष के कार्यकाल के दौरान मैने पहली बार विधानसभा में बोली भाषा समिति का गठन किया। एक बार जब मैं कश्मीर गया वहां लोगो को अपनी बोली भाषा में बात करते देखकर बहुत प्रसनता हुई। हमें भी अपनी बोली भाषा के लिए समर्पित होने की आवश्यकता है। उत्तराखंड के कलाकारों को अधिक से अधिक अवसर प्राप्त हो इसलिए हमने फिल्म नीति को सरल बनाया है पिछले 5 सालों में उत्तराखंड राज्य में बॉलीवुड, हॉलीवुड, दक्षिण भारतीय फिल्मों के साथ ही अन्य भाषाओं की फिल्मों की शूटिंग हुई है, जो अभी भी लगातार जारी है। इन फिल्मों के माध्यम से बड़ी संख्या में स्थानीय लोगों को रोजगार मिला है।

 

कैबिनेट मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल ने कहा नई फिल्म नीति में निवेशकों से लेकर कलाकारों तक के प्रोत्साहन के लिए कई प्रावधान किए गए हैं। उत्तराखंड में फिल्मों, वेब सीरीज़, टीवी सीरियलों की शूटिंग के लिहाज़ से बेहतरीन लोकेशनें होने के कारण राज्य फिल्म मेकरों की पहली पसंद बनता जा रहा है। यही कारण है कि हर साल उत्तराखंड में बनने वाली फिल्मों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। पिछले 6 सालों के आंकड़े देखें तो दस गुना का इज़ाफा साफ नज़र आ रहा है। कैबिनेट मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल ने कहा हम कोशिश कर रहे हैं कि फिल्म मेकर्स को परमिशन आदि के लिए भटकना न पड़े। फिल्म सिटी का निर्माण भी प्रस्तावित है। मुख्यमंत्री के निर्देश पर इसके लिए ज़मीन खोजी जा रही है। फिल्म सिटी बनने के बाद यहां बूम आने की संभावना है। फिल्म मेकर्स को एक ही जगह सारी सुविधाएं मिलेंगी।

कैबिनेट मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल ने कहा देश आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने 13 से 15 अगस्त तक हर घर तिरंगा लगाने का आह्वान किया है। मेरी आप सभी से अपील है कि हम सब अपने घरों में तिरंगा जरूर लगाएं।
पदम् श्री प्रीतम भरतवाण ने कहा कि संस्कृति को प्रचारित और प्रसारित किये जाने के लिए किया जा रहा प्रयास सराहनीय है। इससे कई अन्य नये गायकों और कलाकारों को मंच और प्रोत्साहन मिलेगा। आज उत्तराखंड की संस्कृति और सभ्यता का संरक्षण और संवर्द्धन किये जाने की जरूरत है।

 

ड्रीम संस्था के सचिव दीप प्रकाश नौटियाल ने बताया कि उत्तराखंड की संस्कृति के प्रचार प्रसार के लिए एक गढ़वाली देशभक्ति गीत का ऑडियो वीडियो लांच किया गया है। आजादी के अमृत महोत्सव के तहत वन्दे मातरम राष्ट्रगीत को गाने व हमेशा याद रखने को प्रेरित करने के सन्दर्भ में है।

यह गीत उभरते गायक कार्तिक नौटियाल एवं सुप्रसिद्ध गायिका मीना राणा ने गाया है। कोरस एवं सहगयिकाओं के रूप में हिमानी एवं शिवानी ने गाया है। इसके लिए संस्था ने अपना एक यूट्यूब चैनल भी बनाया है जो ड्रीम्स प्रोडक्शन्स एसपीएस नाम से है। उन्होंने कहा कि यूू-टयूब चौनल का उद्देश्य उत्तराखंड की संस्कृति व बोली भाषा का प्रचार प्रसार करना, युवा कलाकारों के लिए मंच प्रदान करना, अपनी बोली-भाषा को महत्व देना और सम-सामायिक विषयों को महत्व देना है। इस मौके पर गायिका मीना राणा, निर्माता दीपक नौटियाल, मंच संचालन गंभीर सिंह जयाड़ा, संगीतकार संजय कुमोला, चन्द्रवीर गायत्री, प्रदीप भंडारी, कांता प्रसाद, अभिनेता दीपक रावत, लेखक सुरेश स्नेही, नृत्य निर्देशक अजय भारती, विजय भारती, मणिभारती, अमर देव गोदियाल, नीलम नौटियाल सहित अन्य गणमान्य लोग व कलाकार उपस्थित थे।

 

माइग्रेशन क्षेत्र के 13 गांवों की जनता को आपदा काल में धारचूला की तरह टिकिट पर हैली सेवा होगी उपलब्धMay be an image of 2 people and people standing

पिथौरागढ़ (मुनस्यारी), तहसील के माइग्रेशन क्षेत्र मल्ला जोहार तथा रालम के 13 गांवों की जनता को आपदा काल में धारचूला की तरह टिकिट पर हैली सेवा उपलब्ध कराया जाएगा। आज जिला अधिकारी डॉ. आशीष चौहान ने जिपंस जगत मर्तोलिया के अनुरोध पत्र पर इस आशय के आदेश जारी किए।
जिला पंचायत सदस्य जगत मर्तोलिया ने विभिन्न समस्याओं के समाधान के लिए आज 135 किलोमीटर दूर जिला मुख्यालय आकर डीएम चौहान से मुलाकात की। उन्होंने डीएम से कहा कि आपदा से माइग्रेशन ग्राम पंचायतों के पैदल मार्ग क्षतिग्रस्त हो गए है। इन पैदल मार्गों में चलना जानलेवा साबित हो रहा है।
उन्होंने धारचूला की तर्ज पर मुनस्यारी के माइग्रेशन ग्राम पंचायतों के लिए मुनस्यारी से हैली के आने तथा जाने के किराया की दरें घोषित करने की मांग की। जिला अधिकारी डॉ. आशीष चौहान ने इस मांग पर सहमति जताते हुए अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश जारी कर दिए है।
जिला पंचायत सदस्य जगत मर्तोलिया ने नगर पंचायत बनने से पहले भूमि का मालिकाना हक तथा वन पंचायतों के स्वरूप पर बातचीत कर हल निकालने की मांग उठाई। जिपंस मर्तोलिया ने मुनस्यारी पेयजल योजना की जांच पर फाइनल कार्यवाही करने, बुर्फू के ढुलान ठेकेदार के खिलाफ अंतरिम कार्यवाही करने, सेना को दी जाने वाली भूमि पर बैठक कर सर्वमान्य रास्ता निकालने सहित क्षेत्र की दर्जनों समस्याओं को उठाया।
डीएम ने समस्याओं के समाधान के लिए संवधित अधिकारियों को निर्देश दिए है।
मर्तोलिया ने कहा कि समस्याओं का समाधान नहीं हुआ तो हमें चीन सीमा क्षेत्र के गांवों में आंदोलन का बिगुल बजाना होगा।

 

मार्निंग वाकर क्लब का चुनाव : हरीश पांडे चौथी बार बने निर्विरोध अध्यक्ष

हल्द्वानी, मॉर्निंग वॉकर वेलफेयर क्लब, हल्द्वानी के त्रिवार्षिक चुनाव में एक बार फिर हरीश पांडे को अध्यक्ष चुन लिया गया है। आज सुबह 8 बजे दीपू मैगी एण्ड लैमन टी प्वाइंट रानीबाग में सम्पन्न हुआ।

चुनाव चुनाव अधिकारी व क्लब के संरक्षक सुभाष गुप्ता की देखरेख में सम्पन्न हुआ। अध्यक्ष पद के लिए हरीश चन्द्र पान्डे का नाम उमेश सैनी ने प्रस्तावित किया तथा विपिन बल्यूटिया ने अनुमोदित किया ।

कोई अन्य नाम न आने से हरीश चन्द्र पान्डे को चौथी बार अध्यक्ष चुन लिया गया। सभी ने माला पहनाकर शाॅल ओढ़ाकर उन्हें सम्मानित किया। इस अवसर पर बसन्त जोशी, आर पी सिंह, चरनजीत सिंह सेठी, कुलवन्त नागपाल, उमेश सैनी, डाक्टर विनय खुल्लर, अनिल अग्रवाल, प्रेम मदान, विशाल शर्मा, सागर चन्द, भुवन जोशी, दीप चन्द्र कपिल, नीरज टेकरीवाल, सोनू साहनी, डाक्टर राजीव गुप्ता, बलजीत सिंह, योगेंद्र साहू व बलराम उपस्थित रहे।

May be an image of 3 people, people standing, car and outdoors

डीआर वर्मा बने लालकुआं कोतवाल, संजय कुमार साइबर सेल प्रभारी और उमेश मलिक भवाली के कोतवाल बने

हल्द्वानी, नैनीताल के एसएसपी पंकज भट्ट ने निरीक्षकों और उप निरीक्षकों को इधर से उधर तबादला कर हैं। जिसमें भवाली थाना प्रभारी इंस्पैक्टर डी आर वर्मा लालकुआं कोतवाल बनाया गया है, जबकि लालकुआं से इंस्पेक्टर संजय कुमार को साईबर एडीटीएफ प्रभारी बनाकर भेजा गया है। उधर साईबर एडीटीएफ के प्रभारी निरीक्षक उमेश कुमार मलिक को भवाली का कोतवाल बना कर भेजा गया है।
उपनिरीक्षक विजय कुमार को थाना बनभूलपुरा से साईबर सेल भेजा गया है। एसआई जोगा सिंह को साईबर सैल से प्रभारी बनाकर पुलिस चौकी छोई भेजा गया है। एसआई महेन्द्र राज सिंह पुलिस लाईन से थाना काठगोदाम भेजे गए हैं।