हरिद्वार : कई कांग्रेसियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज, पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत और विधायक ने की थी सिडकुल की परिक्रमा

देहरादून। पूर्व सीएम हरीश रावत समेत 300 कांग्रेस कार्यकर्ताओं के खिलाफ मुकदमा हरिद्वार में मुकदमा दर्ज किया गया है। बेरोजगारी के मुद्दे पर हरिद्वार सिडकुल की परिक्रमा को लेकर पूर्व सीएम एवं कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत, कलियर और भगवानपुर के विधायक समेत कांग्रेसियों के खिलाफ सिडकुल पुलिस ने आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है।

आरोप है कि परिक्रमा के दौरान इन लोगों ने कोरोना की गाइडलाइन का पालन नहीं किया। शनिवार को पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत की अगुवाई में कलियर विधायक फुरकान अहमद, भगवानपुर विधायक ममता राकेश समेत कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं ने बेरोजगारी के मुद्दे और औद्योगिक इकाइयों में कर्मचारियों के उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए सिडकुल की परिक्रमा की थी। रविवार को सिडकुल पुलिस ने पूर्व सीएम हरीश रावत, विधायक ममता राकेश, फुरकान अहमद, श्रमिक नेता राजवीर चौहान, जिला पंचायत उपाध्यक्ष राव आफाक अली, किरण पाल वाल्मीकि समेत 200 से 300 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया।
आर्म्स एक्ट में फंसे एनएसयूआई के जिलाध्यक्ष 
सिडकुल थानाध्यक्ष लखपत सिंह बुटोला का कहना है कि कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं ने प्रशासन की ओर से जारी कोरोना की गाइडलाइन का पालन नहीं किया। उन्होंने बताया कि सभी लोगों के खिलाफ आपदा प्रबंधन अधिनियम समेत अन्य धाराओं में केस दर्ज किया गया है।

हरीश रावत की सिडकुल परिक्रमा में एनएसयूआई के जिलाध्यक्ष सुमित चौधरी अपने निजी अंगरक्षक के साथ शामिल हुए थे। सिडकुल पुलिस ने सुमित चौधरी और उनके दो सुरक्षाकर्मियों के खिलाफ असलहा लहराने पर आर्म्स एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया है। थानाध्यक्ष लखपत बुटोला ने बताया कि उनके निजी अंगरक्षकों के हथियारों के लाइसेंस की भी जांच की जाएगी।