अंकिता हत्याकांड़ : पांच दिसंबर के बाद दाखिल होगी चार्जशीट, वीआईपी कौन है अभी भी बना हुआ राज

देहरादून, अंकिता हत्याकांड को लेकर अब तीनों आरोपियों के खिलाफ एसआईटी पांच दिसंबर के बाद चार्जशीट दाखिल कर सकती है। एसआईटी ने तीनों के खिलाफ वैज्ञानिक और दस्तावेजी साक्ष्य जुटाकर चार्जशीट लगभग तैयार कर ली है।

हालांकि, शुरुआत में पुलिस ने दावा किया था कि एक माह के भीतर चार्जशीट कोर्ट में दाखिल कर दी जाएगी। लेकिन, पुलिस के अनुसार विधि विज्ञान प्रयोगशाला से विभिन्न सैंपल की रिपोर्ट आने में देरी के कारण समय लग रहा है।
वहीं, मामले में वो वीआईपी कौन है जिसके रिजॉर्ट में आने की बात सामने आ रही है उसका राज अभी तक नहीं खुल पाया है। इसको लेकर अंकिता के परिजन भी धरना दे रहे हैं। वहीं, कई संगठन भी अब मामले की सीबीआई जांच की मांग को लेकर आंदोलन की तैयारी में हैं।

बता दें कि 18 सितंबर को पौड़ी निवासी अंकिता भंडारी रिजॉर्ट से गायब हुई थी। तीन दिन पटवारी पुलिस ने मामले में हीलाहवाली की तो 21 सितंबर की रात को जांच रेगुलर पुलिस को सौंप दी गई थी। पुलिस जांच में पता चला कि 18 सितंबर की रात में ही नहर में धक्का देकर अंकिता की हत्या कर दी गई थी।
इस मामले में मुख्यमंत्री के आदेश पर एसआईटी का गठन कर दिया गया था। डीआईजी पी रेणुका देवी के नेतृत्व वाली एसआईटी ने रिजॉर्ट के मालिक पुलकित आर्य और उसके दो साथियों को गिरफ्तार कर लिया था।

तीनों से तीन दिनों तक पुलिस ने कस्टडी में भी पूछताछ की थी। विभिन्न साक्ष्य जुटाए गए और कई सैंपल को स्थानीय और केंद्रीय विधि विज्ञान प्रयोगशाला भेजा गया। पहले पुलिस ने एक माह के भीतर चार्जशीट दाखिल करने का दावा किया था। लेकिन, विभिन्न साक्ष्यों की रिपोर्ट में देरी के कारण चार्जशीट अभी तक दाखिल नहीं हो पाई है।
एसआईटी के सदस्य एएसपी शेखर सुयाल ने बताया कि चार्जशीट लगभग तैयार है। कुछेक साक्ष्यों की रिपोर्ट आनी बाकी है। इनका परीक्षण चल रहा है। पांच दिसंबर के बाद न्यायालय में तीनों आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल कर दी जाएगी।