रक्षाबंधन पर दून आ रहा 550 किलो नकली मावा पुलिस ने पकड़ा, तीन को किया गिरफ्तार

देहरादून, देश में त्यौहार का सीजन शुरू हो गया है और इस दौरान बाजारों में खरीददारों की भीड़ बढ़ रही है, इस बीच पटेलनगर पुलिस और खाद्य सुरक्षा विभाग की टीम ने रक्षाबंधन के लिए दून लाया जा रहा 550 किलो नकली मावा पकड़ा है। मिठाई की दुकानों में इसे पहुंचाने का प्रयास कर रहे तीन आरोपितों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। मावे की कीमत करीब एक लाख 32 हजार रुपये बताई जा रही है।

पटेल नगर थाना प्रभारी इंस्पेक्टर प्रदीप राणा ने बताया कि उन्हें गुरुवार शाम को सूचना मिली कि रक्षाबंधन को देखते हुए कुछ व्यक्ति उत्तर प्रदेश के विभिन्न जनपदों से मिलावटी मावा दून ला रहे हैं। जिसे शहर की विभिन्न दुकानों को बेचा जाएगा।सूचना पर एसपी सिटी सरिता डोभाल ने सीओ सदर अनुज कुमार को कार्रवाई के निर्देश दिए। जिस पर पटेलनगर पुलिस को कार्रवाई के लिए रवाना किया गया। पुलिस टीम ने मुखबिर तंत्र को सक्रिय करते हुए लालपुल के पास संदिग्ध वाहनो की चेकिंग शुरू की।

इस दौरान एक इंडिको कार को रोका गया। वाहन की तलाशी ली गई तो 10 कट्टों में रखा 550 किलो मावा बरामद हुआ। जिसके संबंध में वाहन में बैठे चालक सुनील निवासी मुजफ्फरनगर व दो अन्य व्यक्तियों गौरव निवासी मुजफ्फरनगर व नीरज निवासी न्यू पटेलनगर देहरादून से सख्ती से पूछताछ की गई। जिस पर उन्होंने बताया कि आगामी रक्षाबंधन त्योहार के चलते मिठाई की मांग को देखते हुए वे यह नकली मावा लाए। बताया कि मुजफ्फरनगर में मिलावटी मावा तैयार किया जाता है, देहरादून में त्यौहार के चलते मावा की बहुत मांग होती है।

देहरादून में मावा हनुमान चौक, चुकखु मोहल्ला, कारगी चौक, बंजारावाला व क्लेमेनटाउन आदि क्षेत्रों में सप्लाई करने की तैयारी थी। मौके पर खाद्य सुरक्षा विभाग से फूड सेफ्टी आफिसर मंजू कुमार व सुपरवाइजर सुंदर लाल गुप्ता को बुलाया गया। जिन्होंने मावे की शुद्धता संबंधी दस्तावेज दिखाने को कहा। जो कि आरोपितों के पास नहीं थे। खाद्य सुरक्षा और मानक अधिनियम-2006 के अंतर्गत तीनों आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई की गई और मावा के चार सैंपल जांच के लिए रुद्रपुर स्थित लैब भेज दिए गए। कार को सीज कर दिया गया है।