Friday, July 19, 2024
HomeTrending Nowआरएसएस ने शुरू किया जरूरतमन्दों के लिये गए वस्त्र वितरण केन्द्र

आरएसएस ने शुरू किया जरूरतमन्दों के लिये गए वस्त्र वितरण केन्द्र

देहरादून (सुनील घिल्ड़ियाल), राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रान्त प्रचारक डाक्टर शैलेन्द्र ने आज इन्दिरा नगर स्थित संघ कार्यालय में ज़रूरतमन्दों के लिए शुरू किए गए वस्त्र वितरण केन्द्र का शुभारम्भ किया।
जनकल्याण न्यास द्वारा संचालित इस केन्द्र में बड़ी संख्या में आज समाज के समर्थ लोगों ने साड़ी, सूट के साथ ही बच्चों एवं युवाओं के लिए वस्त्र भेंट किए। आज चालीस ज़रूरतमन्दों को वस्त्र वितरित किए। इस अवसर पर डाक्टर शैलेन्द्र ने कहा कि समाज जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में संघ के कार्यकर्ता उल्लेखनीय कार्य कर रहे हैं लेकिन समाज के अभावग्रस्त लोगों को हम सम्बल प्रदान कर सकें इस उद्देश्य को लेकर न्यास ने अच्छी पहल की है।
उन्होंने देश के विभिन्न हिस्सों में चल रहे सेवा कार्यों की जानकारी दी।
न्यास के सचिव पवन शर्मा ने बताया कि देहरादून की विभिन्न बस्तियों में कार्यकर्ताओं की समिति बनाई जाएगी जो ऐसे लोगों का चयन करेगी जो वास्तव में अभाव ग्रस्त हों। भविष्य में वस्त्रों के साथ ही अन्य ग्रहोपयोगी सामग्री का भी वितरण किया जाएगा। न्यास के अध्यक्ष उद्योगपति कैलाश मैलाना ने आये हुए अतिथियों के प्रति आभार प्रकट किया।
कार्यक्रम में संघ के क्षेत्र सामाजिक समरसता संयोजक लक्ष्मी प्रसाद जायसवाल, प्रान्त संयोजक राजेन्द्र पन्त, नगर संघचालक चन्द्र मोहन गौड़, डाक्टर जगमोहन, कर्नल मदन मोहन चौबे, निशा अग्रवाल, सुनील बिष्ट, सहित बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे।

 

मालन पुल निर्माण न कराए जाने के विरोध में कांग्रेस ने किया धरना प्रदर्शन

कोटद्वार, एक वर्ष व्यतीत हो जाने के बावजूद भी मालन पुल निर्माण न कराए जाने के विरोध में महानगर कांग्रेस कमेटी, कोटद्वार एवं जिला युवा कांग्रेस कोटद्वार के नेतृत्व में क्षतिग्रस्त मालन पुल में जाकर प्रदेश सरकार के खिलाफ कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने धरना प्रदर्शन करते हुए जमकर नारेबाजी की। भाबर की लगभग 50 हजार आम जनता का कोटद्वार बाजार से लगभग सड़क मार्ग से संपर्क खत्म हो चुका है। लेकिन 1 वर्ष बीत जाने के बाद भी और अब जबकि दूसरी बरसात शुरू हो चुकी है तब जन प्रतिनिधियों की लचर कार्यशैली के कारण पुल का निर्माण नहीं हो पाया, जिससे आम जनता में भी भारी आक्रोश है, महानगर कांग्रेस कमेटी कोटद्वार एवं जिला युवा कांग्रेस कोटद्वार ने भाजपा सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि पिछले साल पुल का केवल एक पिलर टूटा था, जिसका पुनर्निर्माण एक महीने के अंतराल में हो सकता था दूसरी ओर करोड़ों की लागत से बना वैकल्पिक मार्ग भी दो बार क्षतिग्रस्त हो जाना यह दर्शाता है कि जनता को गुमराह कर रही हैं जिसकी जांच होनी चाहिए और दोषियों पर शीघ्र कार्यवाही होनी चाहिए।
कांग्रेस पार्टी ने यह भी आरोप लगाया कि जानबूझकर दूसरी बरसात का इंतजार करके निर्माण कार्य करवाना सरासर गलत है और इसमें आम जनता के पैसों का दुरुपयोग हो रहा है। कांग्रेस पार्टी ने शीघ्र पुल निर्माण कराया जाने के साथ-साथ बरसात में आपदा से बचने के लिए कोटद्वार में जल्द इंतजाम सरकार सुनिश्चित करने की मांग की, वक्ताओं ने कहा आम जनता के सहयोग से कांग्रेस पार्टी को उग्र आंदोलन करने पर मजबूर होना पड़ेगा।
इस दौरान प्रदर्शन करने वालों में महानगर कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष संजय मित्तल, कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीन रावत, यूथ कांग्रेस के जिला अध्यक्ष विजय रावत, पूर्व सैनिक प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष धीरेंद्र बिष्ट, सेवा दल अध्यक्ष महावीर सिंह रावत, साबर सिंह नेगी, बृजपाल सिंह नेगी, शूरवीर खेतवाल, होशियार सिंह बिष्ट, सुदर्शन रावत, देवेंद्र सिंह नेगी, सुरेंद्र नेगी, हिम्मत सिंह नेगी, सूरभान सिंह नेगी, विनोद नेगी, हयात सिंह मेहरा, मनोज नेगी, मान शेर सिंह सैनी, जगदीश मेहरा, रमेश चंद्र, पूरन चंद्र, विकास मेहरा, शिवम भूषण, अजीत नेगी, विनोद, मनीराम, बॉबी बिष्ट, अंकुश घिल्डियाल,भूप सिंह, चंद्र सिंह रावत, दामोदर सिंह रावत, धर्मेंद्र सिंह रावत, कमल बिष्ट, अनिल नेगी, कुलवंत सिंह पुंडीर, गीता सिंह, मनोज सिंह, कृष्ण चंद्र खंतवाल, शशि भूषण, कीरत सिंह नेगी और तमाम कांग्रेस जन शामिल रहे।

 

उत्तराखंड त्रिस्तरीय पंचायत संगठन का ऐलान : 15 जुलाई से पंचायती राज निदेशालय में अनिश्चितकालीन धरना-प्रदर्शन

-निदेशक पंचायतीराज को दिया अल्टीमेटम
-दो वर्ष कार्यकाल बढ़ाने को लेकर आंदोलन होगा तेज
-मुख्यमंत्री से आंमत्रण नहीं मिलने से नाराज

देहरादून, उत्तराखंड़ की 12 जनपदों में त्रिस्तरीय पंचायतों का कार्यकाल 2 वर्ष बढ़ाए जाने की मांग को लेकर आंदोलित पंचायत प्रतिनिधियों के संगठन को अभी तक वार्ता के लिए मुख्यमंत्री पुष्कर धामी का न्यौता नहीं मिला है। इस बात से नाराज संगठन ने सोमवार को निदेशक पंचायती राज निधि यादव को ज्ञापन सौंपकर 15 जुलाई से निदेशालय पंचायत में अनिश्चितकालीन कालीन धरना-प्रदर्शन करने का ऐलान कर दिया। उन्होंने कहा कि जब तक मुख्यमंत्री संगठन को वार्ता के लिए आमंत्रित नहीं करेंगे, तब तक धरना प्रदर्शन जारी रहेगा।
उत्तराखंड़ त्रिस्तरीय पंचायत संगठन के बैनर तले “एक राज्य एक पंचायत चुनाव” की मांग को लेकर आंदोलन लंबे समय से चलाया जा रहा है।
एक जुलाई 2024 को संगठन ने प्रत्येक जनपद मुख्यालय में धरना प्रदर्शन करते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर धामी को ज्ञापन दिया था कि मुख्यमंत्री संगठन को इस मांग के समाधान के लिए वार्ता हेतु आमंत्रित करें।
इसके लिए निदेशक पंचायती राज को सेतु का कार्य किए जाने का अनुरोध भी किया गया था। एक सप्ताह बीत जाने के बाद भी मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा बातचीत का आमंत्रण नहीं मिलने से नाराज उत्तराखंड त्रिस्तरीय पंचायत संगठन के एक प्रतिनिधि मंडल ने पंचायती राज विभाग की निदेशक निधि यादव से मुलाकात की।
उन्होंने निदेशक को सौंपे ज्ञापन में स्पष्ट ऐलान कर दिया है कि अगर 14 जुलाई से पूर्व मुख्यमंत्री की ओर से वार्ता हेतु आमंत्रण नहीं दिया गया तो 15 जुलाई से पंचायती राज निदेशालय में अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन शुरू किया कर दिया जाएगा।
उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार संगठन की परीक्षा ले रहा है। संगठन ने सरकार को महाधिवक्ता सहित अन्य विशेषज्ञों की राय लेने के लिए पर्याप्त समय दिया। जबकि इसकी आवश्यकता नहीं थी। उन्होंने कहा कि हम सरकार का सम्मान कर रहे है। इससे सरकार भी उत्तराखंड के 70 हजार प्रतिनिधियों के संगठन के सम्मान का भी ख्याल रखना चाहिए। संगठन ने प्रदेश के मुख्यमंत्री, राज्यपाल, मुख्य सचिव सहित आला अफसरों के साथ डीजीपी उत्तराखंड को भी को ज्ञापन की प्रति प्रेषित की है।
उन्होंने स्पष्ट शब्दों में कहा कि अब संगठन किसी भी कीमत में अपनी मांग को लेकर पीछे नहीं हटेगा। जब तक सरकार 2 वर्ष का कार्यकाल बढ़ाए जाने के लिए अधिसूचना जारी करने का लिखित आश्वासन नहीं देता है। तब तक आंदोलन जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि अनिश्चितकालीन धरना-प्रदर्शन में राज्य के 12 जनपदों से तीनों पंचायतों के प्रमुख पदाधिकारी भाग लेंगे। उन्होंने कहा कि हरिद्वार के साथ राज्य के 12 जनपदों के चुनाव होने चाहिए। इससे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के “एक राष्ट्र-एक चुनाव ” भी साकार होगी।
प्रतिनिधि मंडल में देवेंद्र भंडारी प्रदेश उपाध्यक्ष प्रदेश ग्राम प्रधान संगठन, संदीप सिंह पुष्पवान प्रदेश सलाहकार ग्राम प्रधान संगठन, निर्मला राठौर प्रधान कालसी, सुभाष रावत अध्यक्ष प्रधान संगठन ऊखीमठ, योगेंद्र नेगी मीडिया प्रभारी प्रधान संगठन ऊखीमठ, ग्राम प्रधान मनसूना देवेन्द्र पंवार, ग्राम प्रधान पाव जगपुडा अरविन्द रावत मौजूद रहे।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments