UPSC प्रारंभिक परीक्षा की तैयारी करने वालों को राहत, एक और मौका देने को राजी केन्द्र सरकार

नई दिल्ली, संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित प्रारंभिक परीक्षाओं की जो युवा तैयार कर रहे हैं उन अभ्यर्थियों के लिए राहत भरी खबर है। खबर यह है कि केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट को सूचना दी है कि कोरोना से सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा में अपना अंतिम अवसर गंवा चुके अभ्यर्थियों को एक और अवसर प्रदान किया जाएगा।

 

न्यायमूर्ति ए एम खानविलकर की पीठ को केंद्र ने बताया कि ये फैसला सिर्फ एक बार के लिए उन उम्मीदवारों के लिए है, जिनकी उम्र सीमा से ज्यादा हो गई है। अतिरिक्त अवसर की ये छूट सिर्फ उन लोगों के लिए है जिनके पास सीएसई 2020 में बैठने के लिए आखिरी मौका था। सिर्फ इन्हीं कैंडिडेट्स को उम्र सीमा में छूट मिलेगी, वे सीएसई 2021 के लिए मान्य होंगे। सिविल सेवा परीक्षा 2021 में बैठने के लिए अतिरिक्त अवसर उन्हें नहीं दिया जाएगा, जो परीक्षा अटेंप्ट करने की अपनी आखिरी नहीं गंवा रहे होंगे।

बता दें कि केंद्र सरकार और यूपीएससी के बीच इसे लेकर कई बार पहले भी सुनवाई हो चुकी है। इससे पहले शीर्ष न्यायालय ने इस बात का जिक्र किया था कि चार अक्टूबर 2020 को सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा में ऐसे छात्र जो शामिल हुए थे लेकिन उनकी उम्र सीमा 2021 में खत्म नहीं हो रही है, उनकी संख्या 3,863 है।