Friday, July 19, 2024
HomeStatesUttar Pradeshमाफिया डॉन मुख्तार की कार्डियक अरेस्ट से मौत, जेल में बेहोश हुआ...

माफिया डॉन मुख्तार की कार्डियक अरेस्ट से मौत, जेल में बेहोश हुआ था

लखनऊ/बांदा, उत्तर प्रदेश के बांदा जेल से बड़ी खबर आयी है, यहां जेल में बंद माफिया डॉन मुख्तार अंसारी का निधन हो गया है। जानकारी के मुताबिक हार्ट अटैक की वजह से उसका निधन हुआ है। जेल में तबीयत बिगड़ने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था। बताया जा रहा है कि इलाज के दौरान ही हार्ट अटैक से उसका निधन हो गया। मिल रही जानकारी के मुताबिक जेल में मुख्तार अंसारी अचानक ही बेहोश होकर गिर गए थे। मंगलवार को भी उनके तबीयत खराब होने की खबर आई थी। हालांकि आज मंगलवार की तुलना में उनकी तबीयत ज्यादा खराब थी |

मिली जानकारी के अनुसार जेल में बंद मुख्तार अंसारी की कार्डियक अरेस्ट से गुरुवार रात को मौत हो गई। मुख्तार को उल्टी की शिकायत और बेहोशी की हालत में रात 8:25 बजे जेल से रानी दुर्गावती मेडिकल कॉलेज ले जाया गया था। 9 डॉक्टर्स ने इलाज किया, लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका। मुख्तार जेल में रात को बेहोश हो गये थे, वहीं बेटे ने पॉइजन देने का आरोप लगाया,
वहीं अब मुख्तार अंसारी के निधन के बाद उत्तर प्रदेश की राजनीतिक हलचल बढ़ सकती है। मुख्तार अंसारी का राजनीतिक कनेक्शन भी है। मुख्तार ने आरोप लगाया था कि उन्हें जेल में धीमी जहर दिया जा रहा है। मऊ से कई बार विधायक रह चुके मुख्तार अंसारी को विभिन्न मामलों में सजा सुनाई गई है और वह इस वक्त बांदा की जेल में बंद है।अंसारी के खिलाफ उत्तर प्रदेश, पंजाब, नयी दिल्ली और कई अन्य राज्यों में लगभग 60 मामले लंबित हैं।

 

कौन था मुख्तार अंसारी :

जेल में बंद मुख्तार अंसारी का जन्म गाजीपुर जिले के मोहम्मदाबाद में हुआ था, उसके पिता का नाम सुबहानउल्लाह अंसारी और मां का नाम बेगम राबिया था, गाजीपुर में मुख्तार अंसारी के परिवार की पहचान एक प्रतिष्ठित राजनीतिक खानदान की है, इस समय 17 साल से ज्यादा वक्त से जेल में बंद मुख़्तार अंसारी के दादा डॉ. मुख़्तार अहमद अंसारी स्वतंत्रता सेनानी थे, गांधी जी के साथ काम करते हुए वह 1926-27 में कांग्रेस के अध्यक्ष भी रहे | मुख़्तार अंसारी के नाना ब्रिगेडियर मोहम्मद उस्मान को 1947 की लड़ाई में शहादत के लिए महावीर चक्र से नवाज़ा गया था, जबकि मुख्तार के पिता सुबहानउल्लाह अंसारी गाजीपुर में अपनी साफ सुधरी छवि के साथ राजनीति में सक्रिय रहे थे, देश के पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी रिश्ते में मुख़्तार अंसारी के चाचा लगते थे |

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद लाया गया था बांदा जेल :
एक मामले की सुनवाई के लिए मुख्तार अंसारी को यूपी की बांदा जेल से पंजाब की रोपड़ जेल भेजा गया था. इसके बाद वो लंबे समय तक वहीं था, उत्तर प्रदेश में बीजेपी सरकार बन जाने के बाद मुख्तार वापस नहीं आना चाहता था. उसे यूपी लाए जाने के लिए दोनों राज्यों की सरकारों के बीच खींचतान चली. मामला सुप्रीम कोर्ट तक जा पहुंचा और सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के बाद उसे यूपी शिफ्ट करने का फरमान सुनाया | इसके बाद 7 अप्रैल 2021 को सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद भारी सुरक्षा इंतजामों के बीच बाहुबली मुख्तार अंसारी को पंजाब के रोपड़ से हरियाणा के रास्ते आगरा, इटावा और औरैया होते हुए बांदा जेल पहुंचा दिया गया था |

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments