शहीद के तीन वर्षीय बेटे को सीएम ने दुलारा तो फफक पड़ा पूरा परिवार

33

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पुलवामा में हुए आतंकी हमले में शहीद सैनिक पंकज त्रिपाठी के महराजगंज जिले में हरपुर गांव के टोला बेलहिया स्थित घर पहुंचकर परिवार को ढांढस बंधाया। रविवार शाम चार बजे सीएम को अपने बीच पा कर परिवारीजन फफक पड़े। शहीद सैनिक को श्रद्धासुमन अर्पित करने के बाद परिवार के बीच पहुंचे मुख्यमंत्री ने कहा कि देश वीर सैनिकों व उनके परिवार के साथ खड़ा है।

इस घटना के जिम्मेदार आतंकियों को सरकार खोज निकालेगी, उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी। परिवार को कोई पीड़ा न हो, हम यह तय करेंगे। मुख्यमंत्री ने शहीद के पिता ओम प्रकाश त्रिपाठी, माता सुशीला देवी, पत्नी रोहिणी से मुलाकात कर कहा कि देश को पंकज की वीरता पर गर्व है। नन्हें प्रतीक को दुलारते हुए योगी ने उसे अपने पिता की तरह महान बनने को कहा।

शहीद के परिवार के साथ करीब 20 मिनट रहे मुख्यमंत्री ने हर संभव मदद का आश्वासन दिया। इस दौरान सांसद पंकज चौधरी, विधायक ज्ञानेंद्र सिंह, जयमंगल कन्नौजिया, बजरंग बहादुर सिंह, डीएम अमरनाथ उपाध्याय आदि मौजूद रहे।

शहीद के परिवार द्वारा मुख्यमंत्री से की गई मांग

-शहीद की पत्नी व दोनों भाइयों को नौकरी दी जाए।
-बच्चों की पढ़ाई की निश्शुल्क व्यवस्था हो।
-शहीद के माता-पिता को पेंशन दी जाए।
-शहीद के परिवार को भरण पोषण के लिए पेट्रोल पंप व गैस एजेंसी आवंटित की जाए।
-सरकार द्वारा मिलने वाली सहायता राशि 70 फीसद पत्नी व 30 फीसद माता-पिता के खाते में भेजी जाए।