कुंभ मेले में होगी योगी सरकार की कैबिनेट की बैठक

16

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) सरकार ने कैबिनेट बैठक को लेकर अनोखा फैसला किया है. राज्य सरकार (CM Yogi) के इस फैसले के मुताबिक सीएम योगी (CM Yogi) अपनी कैबिनेट की बैठक प्रयागराज स्थित कुंभ (Kumbh 2019) मेले में करने जा रहे हैं. 29 जनवरी यानी मंगलवार को होने वाली इस बैठक को लेकर कुंभ (Kumbh 2019) मेले में सभी तरह की तैयारियां पूरी कर ली गई हैं. अभी तक मिली जानकारी के अनुसार बैठक के बाद मुख्यमंत्री कुंभ (Kumbh 2019) में पवित्र संगम में स्नान भी करेंगे . मुख्यमंत्री (CM Yogi) के साथ मंत्रिमंडल के उनके सहयोगी भी स्नान कर सकते हैं. इसे लेकर कुंभ में हर तरह की तैयारी पूरी कर ली गई है.
प्रयागराज कुंभ मेले से हो रही हैं 2021 के हरिद्वार महाकुंभ की तैयारी

यूपी के अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने को बताया कि 29 जनवरी को कैबिनेट की बैठक प्रयागराज में कुंभ मेला स्थल के इंट्रीग्रेटेड कमांड कंट्रोल सेंटर में होगी. यह बैठक सुबह साढ़े दस बजे आरंभ होगी. बैठक के बाद मुख्यमंत्री योगी कुंभ के पवित्र संगम में स्नान भी करेंगे. स्नान के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ पूरे मंत्रिमंडल के सदस्य 450 साल के बाद खोले गए अक्षयवट और पवित्र सरस्वती कूप के दर्शन करेंगे. अवस्थी के अनुसार यह सभी कार्यक्रम दोपहर तीन बजे तक पूरे हो जायेंगे. बता दें कुछ दिन पहले ही यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी कुंभ में स्नान किया था. इसके बाद अखिलेश ने संगम स्थित बड़े हनुमानजी के दर्शन किए और फिर राष्ट्रीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी जी महाराज के कुंभ स्थित आश्रम में गए थे.

इस मौके पर अखिलेश यादव ने कहा था कि जब सम्राट हर्षवर्धन यहां आते थे तो सब कुछ दान करके चले जाते थे. सरकार ने अभी तक कुछ दान नहीं किया. हम चाहेंगे कि केंद्र सरकार यहां पर स्थित किला प्रदेश सरकार को दान कर दे. कुंभ मेले में श्री पंचायती निरंजनी अखाड़ा में इसके सचिव नरेंद्र गिरि और अन्य साधु संतों के साथ प्रसाद ग्रहण करने के बाद अखिलेश ने संवाददाताओं से कहा था कि प्रदेश सरकार अगली कैबिनेट बैठक कुम्भ मेले में करने जा रही है. योगी सरकार इस कैबिनेट में प्रस्ताव पारित कर इसे केंद्र के पास भेज दे. कुंभ खत्म होते-होते कम से कम किला तो दिलवा दें.”सपा प्रमुख ने कहा, “फौज को अगर जगह चाहिए तो हमारे पास चंबल यमुना के पास बहुत जगह है. जितनी चाहे उतनी जगह फौज को दे दें.”