वाह रे…?, बहुत दिखाई दबंगई, लाठी मार-मारकर तोड़ दीं हड्डियां, वो चीखता रहा, लेकिन नहीं पसीजा किसी का दिल

सीकर (राजस्थान), वाह रे लोगों बड़ी दबंगई दिखाई वह भी एक बुजुर्ग पर और भंडारे के दौरान, कहां गयी मानवता और प्रेम, बस थोड़े से शक में कर दिया बुजुर्ग इंसान का जीवन समाप्त, पीटा भी ऐसे कि देख आपकी रूह कांप जायेगी और सबसे बड़ा सवाल तो यह इतने लोगों के मध्य किसी के मन में भी करूणा नहीं जागी, घठना विगत सप्ताह 4 मार्च को खाटू मेले के दौरान घटी, सीकर जिले के नीमकाथाना में मोबाइल चोरी के शक में एक बुजुर्ग को कुछ लोगों ने इतनी बेरहमी से पीटा कि इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। आरोपियों ने लाठी से मार-मारकर उसकी हड्डियां तोड़ दी थीं। घटना खाटू मेले के दौरान भगेगा गांव में आयोजित भंडारे के बाद हुई थी। पीड़िता यहां भंडारा खाने पहुंचा था। तभी आरोपी में से किसी का मोबाइल गायब हो गया। उन्हें बुजुर्ग पर शक था। इसके बाद पांच लोग बुजुर्ग को जबर्दस्ती अपने साथ जीप में बैठाकर ले गए। फिर एक सुनसान जगह पर उसे टॉर्चर किया गया। घटना के 12वें दिन पीड़ित ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। आंगवाडी निवासी मदनलाल मीणा का जयपुर के एसएमएस में ट्रीटमेंट चल रहा था। मृतक दलित समुदाय से था, जबकि आरोपी उच्च जाति से। इस घटना को लेकर दलित संगठनों में रोष फैल गया था। संगठनों ने मंगलवार को मामले को लेकर प्रदर्शन किया। इस घटना का एक वीडियो वायरल हुआ था। यह वीडियो आरोपियों में से किसी एक ने बनाया था। मृतक का बेटा कानाराम पुलिस कांस्टेबल है। उसने 8 मार्च को कोतवाली में FIR दर्ज कराई थी। डॉक्टरों के मुताबिक, डंडे की मार से मृतक के कूल्हे और पैर की हड्डी टूट गई थी। वहीं, कई जगह अंदरूनी चोटें भी आई थीं।
इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। इसमें साफ देखा जा सकता है कि कैसे एक दबंग बुजुर्ग पर लाठी बरसा रहा है।
इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। इसमें साफ देखा जा सकता है कि कैसे एक दबंग बुजुर्ग पर लाठी बरसा रहा है।
आरोपी बुजुर्ग का जीप में पटककर नीमकाथाना में एक खंडहर में ले गए थे। इस दौरान बुजुर्ग बार-बार कहता रहा कि उसने मोबाइल चोरी नहीं किया। लेकिन किसी ने उसकी बात नहीं सुनी।
आरोपी बुजुर्ग का जीप में पटककर नीमकाथाना में एक खंडहर में ले गए थे। इस दौरान बुजुर्ग बार-बार कहता रहा कि उसने मोबाइल चोरी नहीं किया। लेकिन किसी ने उसकी बात नहीं सुनी।
कुछ देर बाद बुजुर्ग जमीन पर गिर पड़ा। हड्डियां टूटने से वो उठने की हालत में नहीं था। इसके बाद भी दबंग उसे पीटते रहे।
कुछ देर बाद बुजुर्ग जमीन पर गिर पड़ा। हड्डियां टूटने से वो उठने की हालत में नहीं था। इसके बाद भी दबंग उसे पीटते रहे।
बुजुर्ग जब मार बर्दाश्त नहीं कर पाया, तो वो बेहोश हो गया। यह देखकर आरोपी वहां से भाग गए। पीड़ित को जयपुर के सवाई मानसिंह अस्पताल में भर्ती कराया गया था।
बुजुर्ग जब मार बर्दाश्त नहीं कर पाया, तो वो बेहोश हो गया। यह देखकर आरोपी वहां से भाग गए। पीड़ित को जयपुर के सवाई मानसिंह अस्पताल में भर्ती कराया गया था।
बुजुर्ग खुद को बचाने गिड़गिड़ाता रहा। वो चिल्लाता रहा, लेकिन सब तमाशा देखते रहे। किसी ने उसे नहीं बचाया।
बुजुर्ग खुद को बचाने गिड़गिड़ाता रहा। वो चिल्लाता रहा, लेकिन सब तमाशा देखते रहे। किसी ने उसे नहीं बचाया।
इस घटना को लेकर लोगों में आक्रोश है। मंगलवार को दलित संगठनों ने पुलिस थाने के बाहर प्रदर्शन किया। हालांकि पुलिस सभी पांचों आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है।