उत्तराखंड़ : श्रीदेव सुमन और कुमाऊं विश्वविद्यालय की परीक्षाएं शुरू, प्रत्येक अभ्यर्थी की हुई थर्मल स्क्रीनिंग

देहरादून, कोरोना काल के बीच उत्तराखंड में गढ़वाल मंडल के सात जिलों में श्रीदेव सुमन विवि की मुख्य परीक्षा सोमवार आज से 180 केंद्रों पर शुरू हो गई है। लगभग 30 हजार छात्र-छात्राएं परीक्षा में शामिल हुए हैं। परीक्षा के सफल आयोजन के लिए विवि प्रशासन ने पहले ही सभी तैयारी पूरी कर ली थी।

तीन पालियों में डेढ़ घंटे की परीक्षा होगी। प्रथम पाली के लिए सुबह 8.30 बजे से 10 बजे, द्वितीय पाली पूर्वाह्न 11.30 बजे से अपराह्न एक बजे तक और तृतीय पाली की परीक्षा अपराह्न 2.30 बजे से शाम चार बजे तक होगी। परीक्षा शुरू होने से 40 मिनट पहले छात्र-छात्राएं परीक्षा केंद्र पहुंच गए थे। परीक्षा कक्ष में जाने से पहले प्रत्येक अभ्यर्थी की थर्मल स्क्रीनिंग की गई। बता दें कि श्रीदेव सुमन विवि की स्नातक, स्नातकोत्तर अंतिम सेमेस्टर, स्नातक प्रथम वर्ष और बीएड की मुख्य परीक्षा आज से 12 अक्टूबर के बीच होनी है।
परीक्षा नियंत्रक डा. आरएस चौहान ने बताया कि परीक्षा के लिए 180 केंद्र बनाए गए हैं। नकल पर नकेल कसने के लिए प्रत्येक केंद्र पर आंतरिक सचल दल के अलावा छह उड़नदस्तों की टीम का गठन भी किया है। ओएमआर सीट के माध्यम से परीक्षा कराई जा रही है। प्रत्येक अभ्यर्थी के लिए मास्क पहनकर अनिवार्य किया गया है।

कुमाऊं विश्व विद्यालय की परीक्षा में 64 केंद्रों में करीब 37 हजार परीक्षार्थी

उत्थराखंड़ में छात्र नेताओं के भारी विरोध के बीच कुमाऊं विश्वविद्यालय की स्नातक, स्नातकोतर के अंतिम सेमेस्टर और वार्षिक पद्धति से आच्छादित स्नातक स्तर पर प्रथम, द्वितीय, तृतीय वर्ष और स्नातकोतर स्तर पर द्वितीय वर्ष की परीक्षाएं भी आज सोमवार से शुरू हो गई है। सोमवार को 64 परीक्षा केंद्रों में करीब 37 हजार छात्र-छात्राएं परीक्षा में बैठे।

विवि के परीक्षा नियंत्रक प्रो. एचसी एस बिष्ट ने बताया कि तीन पॉलियों में परीक्षाएं होंगी। एक पाली की परीक्षा समाप्त होने के बाद परीक्षा कक्ष को सैनिटाइज कराया जाएगा। साथ ही प्रत्येक परीक्षार्थी के परीक्षा कक्ष में प्रवेश करने से पूर्व थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी। बताया कि विवि से संबद्ध सभी परिसरों, महाविद्यालयों और संस्थानों को भारत और राज्य सरकार की गाइड लाइन का पालन करने को कहा गया है।

साथ ही प्रवेश द्वार, परीक्षा कक्ष में सैनिटाइज, कूड़ेदान को साफ और कवर, परिसर के स्टाफ और परीक्षार्थियों को आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करने की जानकारी, प्रवेश और निकास द्वार पर भीड़ नहीं लगाने, दो छात्रों के बीच कम से कम दो मीटर की दूरी और पेयजल की पर्याप्त व्यवस्था के संबंध में गाइड लाइन जारी की गई है। उन्होंने सभी परीक्षार्थियों से सुरक्षा की दृष्टि से परीक्षा देने की अपील की है।
उन्होंने बताया कि विवि ने वार्षिक परीक्षा के परीक्षार्थियों को छोड़कर करीब 60 हजार छात्रों को ऑटो प्रमोट किया गया है। इसके अलावा अंतिम सेमेस्टर और वार्षिक पद्धति के करीब 48 हजार छात्र-छात्राएं परीक्षा में शामिल होंगे।

दो घंटे की होगी इस बार परीक्षा

कुलसचिव कुविवि खेम राज भट्ट ने बताया कि कोविड-19 के चलते इस वर्ष दो घंटे का पेपर होगा। वहीं वैकल्पिक प्रश्न भी इस बार होंगे। बताया कि कोरोना संक्रमण के चलते एक परीक्षा कक्ष में 60 परीक्षार्थियों के बजाय 30 ही परीक्षार्थी बैठेंगे।

कुमाऊं विश्व विद्यालय के छात्रावासों में लगातार परीक्षार्थी पहुंच रहे हैं। वहीं इनकी सुरक्षा को देखते हुए हर परीक्षार्थी को एक कमरा दिया जा रहा है, जबकि पूर्व में एक कमरे में दो से तीन छात्र रहते थे। छात्रावास में सैनिटाइजर की व्यवस्था है और हर परीक्षार्थी को एक एक सैनिटाइजर दिया जा रहा है। वहीं बाहरी राज्यों के परीक्षार्थियों के छात्रावास पहुंचने पर कोरोना निगेटिव रिपोर्ट जबकि उत्तराखंड के विभिन्न शहरों से छात्रावास आने वाले विद्यार्थियों से अस्पताल से कोरोना के लक्षण नहीं होने का प्रमाणपत्र मांगा जा रहा है।