टिहरी : जिलाधिकारी ने किया तोता घाटी का निरीक्षण, एनएच व निर्माणदायी संस्था के प्रोजेक्ट मैनेजर को दिया अल्टीमेटम

टिहरी, जनपद के जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने राष्ट्रीय राजमार्ग-58 के किमी 270 पर स्थित तोता घाटी का निरीक्षण किया. विगत 2 माह से निर्माण कार्यों एवं बरसात के चलते निरतंर स्लाइडिंग के कारण तोता घाटी में लगभग 60 मीटर पूर्णतः क्षतिग्रस्त सड़क को यातायात के लिए सुचारू करने को लेकर जिलाधिकारी ने एनएच व निर्माणदायी संस्था के प्रोजेक्ट मैनेजर को अल्टीमेटम दिया है. तोता घाटी में लगातार स्लाइडिंग के चलते जिलाधिकारी ने तत्काल चट्टनो का भू-वैज्ञानिक सर्वेक्षण कराने के भी निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए ताकि तोता घाटी पहाड़ कटान के कार्य के दौरान सुरक्षित तरीके से सम्पन्न किया जा सके.

जिलाधिकारी ने तोता घाटी स्पॉट पर मोटर मार्ग सुचारू नही होने तक स्पॉट के दोनों तरफ रात-दिन 1-1 एम्बुलेंस 2-2 वाहन चालको सहित तैनाती की तत्काल व्यवस्था के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए. इसके अलावा 4 कर्मचारी मय स्टेचर सहित तैनाती के साथ ही मरीजो व गर्भवती महिलाओं को स्लाइडिंग स्पॉट पर कराने के लिए 24 घंटे पैदल मार्ग सुचारू रखने के निर्देश दिए. इसके अलावा उन्होंने डोबरी गांव के 2 संपर्क मार्गो के स्थायी निर्माण होने तक मार्ग को वैकल्पिक रूप से प्राथमिकता के आधार पर सुचारू करने के भी निर्देश दिए है.

डोल नामे तोक में एनएच-58 निर्माण कार्य से क्षतिग्रस्त नरेश चंद्र शर्मा के आवासीय भवन प्रतिकर/पुनर्निर्माण के निर्देश संबंधित कार्यदायी संस्था को दिए है. एनएच निर्माण कार्यो से क्षतिग्रत ऐसे खेत जिनका अधिग्रहण नही हुआ है का मौका मुआयाना कर प्रतिकर हेतु आख्या प्रस्तुति के लिए उपजिलाधिकारी कीर्तिनगर आकांशा वर्मा को निर्देश दिए है. मौके पर ईई एनएच 58 लोनिवि दिनेश बिजल्वाण, ऐ ई मनोज पंवार, डीडीएमओ बृजेश भट्ट, निर्माणदायी कंपनी सीडीएस इंफ़्रा प्रोजेक्ट मैनेजर इंद्र मोहन सिंग व एसके वर्मा आदि उपस्थित थे |