चीन ने ऐसे किया मच्छरों का सफाया, जानें पढ़ लीजिए इस खास तकनीक के बारे में!

2829

नई दिल्ली। दुनियाभर में सबसे ज्यादा असमय मौत का कारण मच्छर बन गए हैं। कई सालों से विज्ञान इन्हें खत्म करने का तरीका ढू़ंढ़ रहा है। हालांकि, सारी कोशिशों के बावजूद मच्छर वापस लौटने में कामयाब हो रहे हैं। लेकिन चीन एक ऐसा देश है जिसने इससे निपटने की दिशा में बड़ी उपलब्धि हासिल कर ली है। चीनी वैज्ञानिकों ने एक खास तकनीक की मदद से दो द्वीपों से मच्छरों का सफाया करने में कामयाबी पाई है। लेकिन इस पूरे प्रक्रिया में दो साल का समय लगेगा।

Image result for मच्छरों का सफाया

विज्ञान पत्रिका नेचर में प्रकाशित शोध के मुताबिक, चीन के वैज्ञानिकों ने इस काम के लिए इनकंपैटिबल और स्टराइल इंसेक्ट तकनीक (आईआईटी/एसआईटी) को मिलाकर प्रयोग किया। इनकी मदद से गुआंगझाओ में पर्ल नदी के किनारे स्थित दो द्वीपों से एशियन टाइगर कही जाने वाली मच्छरों की प्रजाति को पूरी तरह खत्म कर दिया गया।

एसआईटी ऐसी तकनीक है, जिसमें रेडिएशन की मदद से नर मच्छरों को नपुंसक बना दिया जाता है। ऐसा होने के बाद धीरे–धीरे कुछ समय में मच्छर पूरी तरह समाप्त हो जाते हैं। इस प्रक्रिया में चीन के वैज्ञानिकों ने वोल्बाचिया बैक्टीरिया की भी मदद ली। शोधकर्ताओं का कहना है कि आने वाले दिनों में चीन एक बड़े शहरी इलाके में इस तकनीक का परीक्षण करने की तैयारी में हैं।

Related image

इसके लिए चीन के वैज्ञानिकों ने दक्षिणी चीन के गुआंगझाओ में दो द्वीपों पर एक प्रयोग करते हुए मादा एशियन टाइगर मच्छर की प्रजाति का 99 फीसदी सफाया कर दिया। वैज्ञानिकों ने इसके लिए एसआईटी नाम की एक तकनीक का इस्तेमाल किया। एसआईटी यानी स्टेराइल इंसेक्ट तकनीक, जिसमें वैज्ञानिकों ने रेडिएशन का इस्तेमाल किया और मच्छरों को नपुंसक बना दिया। इस प्रक्रिया को पूरे दो साल लगे और इतने वक्त में मच्छरों का धीरे-धीरे जड़ से सफाया हो गया।