विकास लक्ष्यों के नियोजन एवं क्रियान्वयन के दृष्टिगत 9 व 10 दिसम्बर को आयोजित होगी कार्यशाला

रुद्रप्रयाग, जनपद स्तरीय सतत् विकास लक्ष्यों के नियोजन एवं क्रियान्वयन के दृष्टिगत दो दिवसीय कार्यशाला 9 व 10 दिसंबर को आयोजित होगी। इससे पूर्व समस्त विभागों को कार्यशाला से संबंधित सूचनाएं 5 दिसंबर तक जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी को उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए हैं।
जिलाधिकारी मनुज गोयल ने बताया कि सतत् विकास लक्ष्यों के स्थानीय स्तर पर नियोजन एवं क्रियान्वयन के दृष्टिगत जनपद का एक दूरगामी विजन पत्र तैयार किया जाना है।

जिससे स्थानीय प्राथमिकताओं, वित्तीय मानव संसाधनों का चिन्हिकरण करते हुए जनपद का ए.डी.जी. विजन डाक्यूमेंट-2030 एवं रणनीति तैयार की जा सके। उन्होंने कहा कि कार्यशाला का उद्देश्य स्थानीय स्तर पर मुद्दों का चिन्हिकरण व उनके निदान हेतु विचार-विमर्श सहित अपेक्षित समाधान, जनपद स्तरीय विजन-2030 डाक्यूमेंट, रणनीति व कार्ययोजना, जनपद का समावेशी विकास करते हुए सतत् विकास लक्ष्यों की प्राप्ति तथा एस.डी.जी. योजना, संरचना, क्रियान्वयन हेतु रोडमैप विकसित करना आदि है।

आवंटित सतत् विकास लक्ष्यों पर स्थानीय मुद्दे समस्याएं व चुनौतियों का चिन्हिकरण, प्रकाश में आए मुद्दों व चुनौतियों के समाधान हेतु संभावित निदान, तीन वर्षीय कार्ययोजना एवं रणनीति तैयार कराना आदि विषयों पर भी चर्चा की जाएगी। कार्यशाला में जनपद के लिए एस.डी.जी. विजन डाक्यूमेंट बनाए जाने हेतु चार कार्यदलों का गठन किया जाएगा, जिसमें विज्ञ अधिकारी, स्थानीय युवा तथा बुद्धिजीवियों के द्वारा प्रतिभाग किया जाएगा।