कोतवाली में तीन घंटे बैठा बंदर, लिया जायजा और फिर चला गया

31

पीलीभीत, उत्तर प्रदेश के पीलीभीत शहर कोतवाली में तैनात इंस्पेक्टर श्रीकांत द्विवेदी की मेज पर एक बंदर जाकर बैठ गया। बंदर उनके सिर पर भी बैठ गया। कोतवाल ने बंदर को फल भी खिलाए। लगभग दो-तीन घंटे तक बंदर वहां बैठा रहा। इसके बाद अपने आप चला गया। मामला चर्चा का विषय बना हुआ है।

हुआ यह कि शहर कोतवाल श्रीकांत द्विवेदी अपने कार्यालय में बैठकर विभागीय कामकाज निपटा रहे थे। इस दौरान एक बंदर वहां आया। बंदर पहले तो कोतवाल की कुर्सी के आसपास चक्कर काटता रहा। इसके बाद अचानक कोतवाल की मेज पर जाकर बैठ गया।मेज पर बैठकर बंदर ने कोतवाल के हाथ पकड़ कर सहलाना शुरू कर दिया। अचानक बंदर के मेज पर बैठ जाने के कारण कोतवाल भी हड़बड़ा गए।
हालांकि वह चुपचाप बैठे रहे। इसके बाद बंदर अचानक कोतवाल के सिर पर जाकर बैठ गया। इसके बाद वह बंदर फिर वहीं घूमने लगा। कोतवाल ने बंदर को फल वगैरह भी मंगवा कर खिलाया। जब कोतवाल अपने कार्यालय से आवास की तरफ गए तो वह वहां से भी पीछे पीछे आ गया। यहाँ भी वह काफी देर तक बैठा रहा। इसके बाद बंदर को उनके साथ भेज दिया।