टिहरी झील : साहसिक गतिविधियों के संचालन की आईटीबीपी को जिम्मेदारी

देहरादून, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि टिहरी झील में साहसिक गतिविधियों के संचालन की जिम्मेदारी आईटीबीपी को दी जाएगी। इसके लिए सरकार ने एमओयू पर भी हस्ताक्षर किए हैं।
सीमाद्वार स्थित आईटीबीपी फ्रंटियर मुख्यालय में गंगोत्री -2 व शिखर पर्वतारोहण अभियान गश्त-2020 फ्लैग इन समारोह में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत जवानों को सम्मानित करने पहुंचे। कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे मुख्यमंत्री ने पर्वतारोहण अभियान में दूसरे दल का नेतृत्व करने वाली उपमहानिदेशक अपर्णा कुमार को सम्मानित किया।

आईटीबीपी अधिकारियों ने बताया कि आईटीबीपी की नौ सदस्य टीम ने गंगोत्री-2 शिखर (21,615 फीट) पर तिरंगा फहराया। अब तक 214 से ज्यादा पर्वतारोहण अभियानों को सफलतापूर्वक पूरा किया है। यह इस पर्वतारोही बल का विशेष रिकॉर्ड है।

कोरोनाकल में भी आईटीबीपी दो बड़े पर्वतारोहण अभियानों में विजयी रही। गंगोत्री-2 शिखर के लिए क्षेत्रीय मुख्यालय आईटीबीपी देहरादून के पर्वतारोही दल ने 09 सितंबर को उत्तरकाशी से अभियान की शुरुआत की थी।