अटल पेंशन योजना : अब 60 की उम्र से पहले ले सकते हैं पेंशन

नई दिल्ली, अटल पेंशन योजना में निवेश करने वालों के लिए अच्छी खबर है। केंद्र सरकार ने अब 60 साल की उम्र के बाद पेंशन मिलने की बाध्यता खत्म कर दी है। यानी अब कोई भी 60 साल की उम्र से पहले ही APY का खाता बंद कर सकता है और पेंशन फंड के रूप में मिलने वाली राहत हासिल कर सकता है। कोरोना वायरस और लॉकडाउन के कारण लोगों को हो रही आर्थिक परेशानी को देखते हुए सरकार ने यह फैसला किया है। बता दें, अटल पेंशन योजना पेंशन फंड नियामक और विकास प्राधिकरण द्वारा संचालित एक पेंशन योजना है।

असंगठित क्षेत्र के कर्मचारी निवेश कर सकते हैं। APY में पेंशन की रकम निवेश की राशि और उम्र पर निर्भर करती है। अटल पेंशन योजना (APY) के तहत कम से कम 1,000 रुपए और अधिकतम 5,000 रुपए मासिक पेंशन मिल सकती है। योजना के तहत 18 से 40 वर्ष के लोग खाता खुलवा सकते हैं। अब तक 60 साल की उम्र के बाद पेंशन मिलना शुरू होती थी, लेकिन अब सरकार ने इसमें छूट दे दी है। यह सुविधा वैकल्पिक हैं। यानी जो खाताधारक अभी खाता चालू रखना चाहते हैं, वे राशि जमा करते रहें। हालांकि खाताधारकों को सलाह दी जा रही है कि वे समय से पहले खाता बंद करने को आखिरी विकल्प के रूप में चुनें, क्योंकि इससे रिटायरमेंट के बाद मिलने वाली राशि पर असर पड़ेगा।

APY का खाता कैसे बंद करें

अब तक की व्यवस्था के मुताबिक, Atal Pension Yojana (APY) के खाताधारक को 60 साल की उम्र से पहले केवल उसके निधन या गंभीर बीमारी की स्थिति में ही खाता बंद करने की अनुमति थी। अब संबंधित बैंक में खाता बंद करने का फॉर्म भर कर खाता बंद किया जा सकता है। यह फॉर्म अटल पेंशन योजना की वेबसाइट पर भी उपलब्ध है। वहां से डाउनलोड कर फॉर्म ऑनलाइन भी भरा जा सकता है। APY खाता बंद करने का आवेदन मिलने पर खाताधारक द्वारा जमा की गई राशि और उस पर अब तक मिला ब्याज का भुगतान कर दिया जाएगा। बैंक द्वारा अकाउंट मेंटेनेंस फीस जरूर काटी जाएगी। यदि सरकार की तरफ से और कोई छूट दी गई है तो वह भी खाता धारक को मिलेगी।

जिन लोगों की उम्र 40 साल से कम है, वे अपना APY खाता बंद करवा सकते हैं क्योंकि उनके पास आगे चलकर फिर खाता खोलने और रिटायरमेंट का लाभ लेने की सुविधा है, लेकिन जिन लोगों की उम्र 40 साल से अधिक है या जिनके पास कोई दूसरा विकल्प नहीं है, वह खाता बंद कर सकते हैं।