परीक्षा शुल्क में भारी वृद्धि करने पर छात्रों ने धरना प्रदर्शन कर पुतला दहन किया

12

मसूरी। एमपीजी कालेज में छात्रों ने कालेज के मुख्य द्वार पर परीक्षा शुल्क बढाये जाने को लेकर तालाबंदी की व कुलपति सहित उच्चशिक्षा मंत्री डा. धनसिंह रावत का पुतला जोरदार नारेबाजी के बीच दहन किया। एमपीजी कालेज प्रांगण में बड़ी संख्या में छात्र छात्राएं एकत्र हुए और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद व छात्र संघ ने कालेज के मुख्यद्वार पर ताला लगा दिया व एचएनबी गढवाल विश्वविद्यालय के कुलपति व उच्चशिक्षा मंत्री धन सिंह रावत के विरोध में जोरदार धरना व प्रदर्शन किया व उसके बाद पुतला दहन किया। इस मौके पर छात्रों ने विवि प्रशासन व उच्चशिक्षा मंत्री के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की। इस मौके पर एबीवीपी के सुमित भंडारी ने कहा कि विवि प्रशासन ने स्नातक प्रथम वर्ष के छा़त्रों की परीक्षा शुल्क में तीन गुना बढोत्तरी की है जो कि किसी भी कीमत पर बर्दास्त नहीं की जायेगी। उन्होंने कहा कि कालेज में गरीब व कमजोर वर्ग के साथ पढ़ते हैं ऐसे में तीन गुना अधिक फीस बढाये जाने से उनका परीक्षा देना असंभव हो गया है छात्रों का कहना है कि इतनी अधिक फीस कहा से लायें। इस मौके पर छात्रसंघ अध्यक्ष प्रिंस ने कहा कि स्नातक प्रथम वर्ष के छात्रों की फीस 750 से बढाकर 2150 कर दी है जो कि बहुत ही गलत है जिससे छात्रों में भारी आक्रोश है। उन्होंने कहा कि अगर विवि प्रशासन ने इस ओर ध्यान नहीं दिया तो आगे उग्र आंदोलन किया जायेगा। इस दौरान कोतवाल भावना कैंथोला ने छात्रों को समझाने का प्रयास किया लेकिन छात्र नहीं माने व कालेज में तालाबंदी जारी रखी। इस दौरान कालेज के प्रधानाचार्य डा. एसपी जोशी प्रदर्शनकारी छात्रों कीे बीच आये व कहा कि वह भी इस आंदोलन के समर्थन में हैं, जो भी विश्वविद्यालय प्रशासन ने किया वह गलत है किसी से पूछा नहीं गया न ही महाविद्यालयों को विश्वास में लिया गया। उन्होंने कहा कि तीन गुना फीस बढाना गलत है हम भी इसे गलत मानते हैं लेकिन आज फीस जमा कराने का अंतिम दिन है इसलिए फीस जमा करायें। व अपना आंदोलन जारी रखें जब फीस कम होगी तो सभी की फीस लौटा दी जायेगी। लेकिन अगर आज फीस जमा नहीं की गई तो एक हजार रूप्या लेट फीस और जमा करनी होगी जिससे और अधिक आर्थिक बोझ पडे़गा। उन्होंने कहा कि वह भी अपनी तरफ से विवि प्रशासन को इस संबध मंे पत्र लिखेंगे। उन्होंने कहा कि पहले फीस 750 थी, अब 12 सौ पंजीकरण शुल्क अगल से लिया जा रहा है और 200 रूपया इनरोलमेंट फीस अलग से ली जा रही है जो वास्तव में गलत है। उन्हांेने कहा कि पंजीकरण व इनरोलमेंट फीस अलग अलग नहीं ली जानी चाहिए। इस मौके अभिलाष, आशीष जोशी, सपना शर्मा, जगपाल गुसांई, छात्रसंघ महामंत्री अनिल पंवार, सहित बड़ी संख्या में छात्र छात्राएं मौजूद रही।