मसूरी में तीसरी लहर के लिए बनी रणनीति, एसडीएम ने बुलाई बैठक, मांगे सुझाव

मसूरी, पहाड़ो की रानी मसूरी में कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए एसडीएम मनीष कुमार ने शहर के विभिन्न सगंठनों के साथ बैठक की और लोगों से सुझाव मांगे। बैठक में शहर को शत प्रतिशत वैक्सीनेशन कराने का लक्ष्य रखा गया और लक्ष्य जल्द पूरा करने के लिए सभी से सहयोग की अपील की।

मसूरी के एसडीएम कार्यालय में हुई बैठक में मसूरी ट्रेडर्स एसोसिएशन ने शहर में एक जुलाई तक 99 प्रतिशत वैक्सीनेशन कराने की बात रखी। एसडीएम मनीष कुमार ने सभी लोगों से वैक्सीन लगवाने की अपील की। एसडीएम ने कहा कि पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन उपलब्ध है। उन्होंने कहा कि शहर में लगातार सैलानियों की संख्या बढ़ रही है। इसे देखते हुए शहर के सभी लोगों का वैक्सीनेशन बहुत जरूरी है।

उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर से निपटने के लिए संस्थाओं का सहयोग लिया जाएगा। बैठक में निर्णय लिया गया है कि प्रशासन और मसूरी ट्रेडर्स संयुक्त रूप से लोगों को टीकाकरण के लिए प्रेरित करेंग। शहर में टीकाकरण के लिए कई जगह शिविर लगाए जाएंगे। इसके अलावा माल रोड पर बिना मास्क के घूमने वालों पर सख्ती करने और सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लघंन करने पर चालान करने पर जोर दिया गया।

साथ ही शहर के बंद पर्यटक स्थलों को गाइडलाइन के अनुसार खुलवाने पर चर्चा की गई। बैठक में उत्तराखंड होटल एसोसिएशन अध्यक्ष संदीप साहनी, मसूरी ट्रेडर्स अध्यक्ष रजत अग्रवाल, जगजीत कुकरेजा, नागेंद्र उनियाल, शहर कोतवाल राजीव रौथाण, संजय अग्रवाल, देवी गोदियाल, सलीम अहमद, आरएन माथुर सहित विभिन्न सगंठनों से जुड़े लोग मौजूद रहे

 

आयुष्मान योजना के तहत अब फोर्टिस अस्पताल में भी मिलेगा इलाज

देहरादून, फोर्टिस अस्पताल में अब आयुष्मान योजना के तहत भी मिलेगा इलाज। कोरोनेशन अस्पताल (जिला चिकित्सालय) में पीपीपी मोड पर संचालित किया जा रहा है। वरिष्ठ कार्डियोलॉजी डॉ. इरफान याकूब बट ने पत्रकार वार्ता कर बताया कि अब फोर्टिस अस्पताल में आयुष्मान के तहत भी मरीजों को देखा जाएगा। उन्हें एंजिओग्राफी, एंजिओप्लास्टी एवं हृदय बालरोग आदि का उपचार मिलेगा। उन्होंने जन सामान्य से अपील की है कि हृदय रोग से जुड़े लक्षणों को नजरअंदाज न करें और तुरंत चिकित्सीय परामर्श लें।

बता दें कि इससे पहले यहां पर बीपीएल मरीजों का नि:शुल्क उपचार किया जा रहा था। बीते दिनों अस्पताल का अनुबंध समाप्त हो गया था। मामला मुख्यमंत्री स्तर पर पहुंचने पर फोर्टिस का एक साल का अनुबंध बढ़ाया गया। फैसिलिटी डायरेक्टर अविक चौहान ने बताया कि पिछले दस वर्षों में 13 हजार एंजिओग्राफी, 5266 एंजिओप्लास्टी व 2700 बाल हृदय रोग संबंधी केस अस्पताल में किए जा चुके हैं, जबकि 2.80 लाख मरीज अब तक चिकित्सीय परामर्श ले चुके हैं। उन्होंने बताया कि अस्पताल में पोस्ट कोविड क्लीनिक का भी संचालन किया जा रहा है। जल्द अस्पताल ग्रामीण व पर्वतीय क्षेत्रों में स्क्रीनिंग कैंप भी आयोजित करेगा।