हिमाचल में बर्फबारी का कहर, रोहतांग दर्रे में फंसे 40 वाहन

23

कुल्लू ,। कुल्लू-मनाली और लाहौल-स्पीति की चोटियों पर भारी बर्फबारी से बर्फ की सफेद चादर बिछ गई है। रोहतांग दर्रा में इस सर्दी की सबसे अधिक 30 सेंटीमीटर बर्फबारी रिकॉर्ड की गई। आज सुबह यहां निगम की बसों समेत तेल के टैंकर, राशन से भरे ट्रक और छोटे वाहन फंस गए हैं।
ये वाहन लाहौल और लेह की तरफ जा रहे थे। जैसे ही वह रोहतांग पहुंचे तो भारी बर्फबारी के बीच वह फंस गए। उधर आरएम लाहौल-स्पीति मंगल चंद मनेपा ने कहा कि रोहतांग में 30 सेंटीमीटर ताजा हिमपात हुआ है।

उधर, मनाली-लेह मार्ग सहित मनाली जांस्कर मार्ग पर भी वाहनों के पहिये जाम हो गए हैं। रोहतांग दर्रे के पास एचआरटीसी की धर्मशाला -त्रिलोकीनाथ बस भी फंस गई है, साथ ही कई ट्रक व अन्ये छोटे वाहन भी फंसे हैं। रोहतांग दर्रे में अब तक आधा फीट, राहनीनाला व ग्रांफ़ू में 4 इंच, मढ़ी में दो इंच, ब्यासनाला, चुंबक मोड़, राहलाफाल, फातरु और गुलाबा में बर्फ की हल्की परत बिछ गई है। बर्फबारी के कारण रोहतांग दर्रे सहित शिंकुला व बारालाचा दर्रा बंद होने से लेह जाने वाले सैलानी व लोग दारचा में फंस गए हैं।

बारालाचा दर्रे सहित शिंकुला दर्रे में पौना फीट हिमपात हो चुका है। लाहुल व पांगी घाटी से कुल्लू दशहरा देखने के लिए आ रहे लोग भी कोकसर में फंसे हैं। कुछ पर्यटक व वाहन चालक दारचा में फंसे हुए हैं। स्पीति जाने वाली एक बस और केलंग जाने वाली चार बसें भी मनाली में रुक गई हैं।