सर्राफ लूटकांड : पुलिस की आठ टीमें जुटीं बदमाशों की तलाश में, सीसीटीवी कैमरे खंगाल रही पुलिस

देहरादून, जनपद के पटेलनगर क्षेत्र में सराफ से हुई लूट के मामले में पुलिस की आठ टीमें गठित की गई हैं। इन टीमों ने एक दिन में 200 से अधिक सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली है। बताया जा रहा है कि एक फुटेज में संदिग्ध बाइक देखी गई है। पुलिस का दावा है कि जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर घटना का खुलासा किया जाएगा।

मंगलवार रात करीब 8:40 बजे एक सराफ को गोली मारकर जेवर भरा बैग लूट लिया गया था। लूटेरे एक बाइक पर आए थे और उन्होंने हेलमेट लगाए हुए थे। घटना सरेराह बेखौफ अंदाज में अंजाम दी गई। इससे क्षेत्रवासियों में भी खासी दहशत है।

घटना के तत्काल बाद ही पुलिस ने शहर और बार्डर पर नाकेबंदी कर दी थी। लेकिन, देर रात तक कोई सुराग नहीं मिला था। इसके बाद पुलिस कप्तान डीआईजी अरुण मोहन जोशी ने सीओ और थाना प्रभारियों की आपात बैठक बुलाई और खुलासे के लिए आठ टीमें गठित करने के निर्देश दिए।

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक बुधवार तक करीब 200 सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली गई हैं। इनमें कुछ प्राइवेट कैमरे भी शामिल हैं। बताया जा रहा है कि सड़क किनारे लगे कुछ कैमरों में बाइक की धुंधली तस्वीर दिखी है। इस मामले में पुलिस सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, बिजनौर आदि जनपदों में हाल में हुई घटनाओं के बारे में भी जानकारी जुटा रही है। साथ ही साथ हाल ही में जेल से छूटे बदमाशों पर भी नजर रखी जा रही है। डीआईजी ने इन बदमाशों के सत्यापन के निर्देश दिए हैं।

सूत्रों ने बताया कि अंदेशा जताया जा रहा है कि बदमाश सराफ का दुकान से ही पीछा कर रहे थे। बताया जा रहा है कि सराफ अक्सर बाइक से ही आते जाते थे और उनकी बाइक में डिग्गी भी नहीं है। ऐसे में वे बैग या कोई थैला हमेशा अपने हाथ में ही रखते थे। शायद इसी बात को बदमाशों ने भांप लिया होगा, जिससे वे मंगलवार रात को उनके पीछे लग गए।

‘वारदात के खुलासे के लिए आठ टीमों का गठन किया गया है। शहर और आसपास के इलाकों के सीसीटीवी फुटेज देखे जा रहे हैं। साथ ही पुलिस टीमें अन्य तरीकों से भी आरोपियों तक पहुंचने का प्रयास कर रही है। जल्द ही बदमाशों को गिरफ्तार किया जाएगा।’
– डीआईजी, अरुण मोहन जोशी