ऋषिकेश एम्स आईसीयू होगा अंतरराष्ट्रीय स्तर का

27

ऋषिकेश (ओम रतूड़ी ) ।       अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश में आयोजित कार्यक्रम में नवनिर्मित क्रिटिकल केयर यूनिट (आईसीयू) का संस्थान के अध्यक्ष प्रोफेसर समीरन नंदी ने विधिवत लोकार्पण किया। इस अवसर पर एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने संस्थान के प्रेसिडेंट प्रो. नंदी को आईसीयू में उपलब्ध सुविधाओं से अवगत कराया।

उन्होंने बताया कि क्रिटिकल केयर यूनिट में अत्यधिक गंभीर रोगियों के लिए कृत्रिम सांस देने, इन्वेजिव मॉनिटरिंग, इनवेजिव तथा नॉन इन्वेजिव वेंटिलेशन, ब्रोंकोस्कोपी, अल्ट्रासाउंड आदि सुविधाएं उपलब्ध हैं। एम्स निदेशक प्रो. रवि कांत ने बताया कि संस्थान में भविष्य में और अधिक वर्ल्ड क्लास स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए लगातार प्रयास जारी हैं, जिसका लाभ एम्स में आने वाले रोगियों को मिल सके और उन्हें उपचार के लिए महानगरों में नहीं जाना पड़े। इस दौरान संस्थान के अध्यक्ष प्रो. समीरन नंदी व निदेशक प्रो. रवि कांत ने देश व विदेशों में आईसीयू में उपलब्ध सुविधाओं पर चर्चा भी की।

इस अवसर पर यूनिट के प्रभारी डा. अंकित अग्रवाल ने एम्स प्रेसिडेंट प्रो. नंदी व निदेशक प्रो. रवि कांत का स्वागत किया। डा. अंकित अग्रवाल ने बताया कि गंभीर मरीजों के इलाज के अतिरिक्त क्रिटिकल केयर यूनिट में उन सभी नियमों का पालन किया जाता है, जिससे मरीजों को किसी भी प्रकार का इन्फेक्शन नहीं हो। डा.अंकित ने बताया कि ऋषिकेश एम्स में अंतरराष्ट्रीय मानकों के आधार पर आईसीयू में प्रत्येक रोगी के लिए एक नर्सिंग स्टाफ उपलब्ध है, ऐसी व्यवस्था कई बड़े अस्पतालों में भी नहीं होती।

इसके अतिरिक्त आईसीयू में डीएम पाठ्यक्रम की शुरुआत भी हो चुकी है, जिसमें अभ्यर्थियों का चयन राष्ट्रीय स्तर पर होता है। उन्होंने बताया कि एम्स निदेशक पद्मश्री प्रो.रवि कांत का लक्ष्य है कि ऋषिकेश एम्स के आईसीयू को किसी भी अंतरराष्ट्रीय आईसीयू के स्तर पर ले जाएं और इसके लिए वह सतत प्रयासरत हैं। इस अवसर पर एमएस डा. ब्रह्मप्रकाश, डीन (एकेडमिक) प्रो. सुरेखा किशोर, डीन (एलुमिनाई) प्रो. बीना रवि, डीन (स्टूडेंट्स वैलफेयर) प्रो. मनोज गुप्ता, एसई सुलेमान अहमद, डा. बलराम जीओमर,डा. श्रीपर्णा बासू, डा.कुमार सतीश रवि,  डा.लता गोयल, डा. अनुभा अग्रवाल, डा. बीएल चौधरी आदि मौजूद थे।