पीआरएसआई ने जागरूकता रैली में लिया भाग

देहरादून, विश्व एड्स दिवस के अवसर पर आयोजित जागरूकता रैली में पब्लिक रिलेशन सोसाइटी ऑफ इंडिया देहरादून चैप्टर द्वारा भी प्रतिभाग किया गया।
राज्य एड्स कंट्रोल सोसाइटी उत्त्तराखण्ड द्वारा आयोजित कार्यक्रम में आज गांधी पार्क देहरादून से रैली का शुभारंभ महानिदेशक चिकित्सा स्वास्थ्य द्वारा किया गया।
रैली में विभिन्न स्कूलों और संस्थाओ के छात्र छात्राओं द्वारा प्रतिभाग किया गया। prsi देहरादून चैप्टर के सचिव अनिल सती, कोषाध्यक्ष सुरेश चंद्र भट्ट, सदस्य अनिल वर्मा आदि शामिल हुए।

 

विष्व एड्स दिवस पर मसूरी गर्ल्स एनएसएस ने प्रतियोगिताएं आयोजित की

मसूरी। मसूरी गर्ल्स इंटर कालेज राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई ने विश्व एड्स दिवस विद्यालय के सभागार में मनाया। इस मौके पर जहां एड्स की जानकारी दी गई वहीं बचाव के उपायों पर विस्तार से बताया गया। इस मौके पर विभिन्न प्रतियोगिता आयोजित की गई। मसूरी गर्ल्स इंटर कालेज सभागार में आयोजित विश्व एड्स दिवस पर राष्ट्रीय सेवा योजना कार्यक्रम अधिकारी चंद्रमा थलवाल ने स्वयंसेवियों को एड्स के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने एड्स के बारे में बताते हुए कहा कि एड्स एक संक्रामक रोग है जो विभिन्न कारणों से होता है। उन्होंने एड्स के लक्षण बताये व इसके फैलने के तरीकों पर विस्तार से बताया। वहीं उन्होंने इसके परीक्षण व उपचार के बारे में बताने के साथ ही इससे बचने के उपाय बताये। उन्होंने बताया कि एड्स घातक रोग है जिससे जान भी जा सकती है इसलिए इससे बचना चाहिए। विश्व एड्स दिवस के मौके पर विद्यालय में पोस्टर, निबंध, एवं स्लोगन प्रतियोगिताएं आयोजित की गई जिसमें बड़ी संख्या में एनएसएस स्वयं सेवियों ने प्रतिभाग कर अपनी भावनाओं को व्यक्त किया। पोस्टर प्रतियोगिता में अंबिका ने प्रथम, सना अंसारी ने दूसरा व प्रीति ने तीसरा स्थान हासिल किया। निबंध प्रतियोगिता में पिंकी शर्मा ने पहला, आंचल कैंतुरा ने दूसरा व दीपाली ने तीसरा स्थान हासिल किया। स्लोगन प्रतियोगिता में सना अंसारी ने पहला, शिवरानी ने दूसरा व आकृति ने तीसरा स्थान हासिल किया। इस मौके पर विद्यालय की प्रधानाचार्या अनीता डबराल ने छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि एड्स से बचाव की इसका सबसे प्रमुख उपाय है। इसके लिए समाज को जागरूक करने की आवश्यकता है ताकि इस गंभीर रोग से बचा जा सके। इस मौके पर डा. देवेश्वरी नयाल सहित शिक्षिकाएं व छात्राएं मौजूद रही।