कैलाश अस्पताल के चिकित्सकों ने दी जन्मजात हॄदय रोग की जानकारी

देहरादून:राजधानी देहरादून में हरिद्वार रोड़ स्थितकैलाश अस्पताल द्वारा पत्रकार वार्ता का आयोजन किया गया। जिसमें उन्होंने जन्मजात हृदय रोग से संबंधित बीमारी के इलाज के बारे में जानकारी दी। वहीं इस मौके पर डॉक्टरों ने बताया कि जन्मजात हृदय रोग कई बार नवजात शिशुओं के लिए जानलेवा साबित होते हैं जन्म से कुछ ही दिनों के भीतर ऑपरेशन की आवश्यकता पड़ सकती है। पिछले कुछ वर्ष के दौरान उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में हृदय रोग से ग्रसित कई छोटे बच्चों की ऑपरेशन द्वारा जान बचाई गई है। एमसीएच अखिलेश पांडेय ने कहा कि अभी कुछ दिन पहले एक 4 महीने की बच्ची जिसका वजन मात्र 3.7 किलोग्राम है यह बच्ची निमोनिया के साथ गंभीर हालत में अस्पताल पहुंची। इको द्वारा पता चला इसके फेफड़ों एवं शरीर में खून ले जाने वाली नलिया आपस में जुड़ी हुई थी ऐसे में अधिकतर बच्चे एक साल की उम्र तक जीवित नहीं रह पाते हैं इस बच्ची का ऑपरेशन सफल रहा। जिसके बाद अब बच्ची पूरी तरह स्वस्थ्य है।