पौड़ी के अपर बाजार को हेरिटेज स्ट्रीट के रूप में विकसित किया जायेगा : जिलाधिकारी

‘आगामी 28 फरवरी को प्रदेश के मा0 मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत के प्रस्तावित भ्रमण के दौरान हेरिटेज स्ट्रीट के विकास कार्य का भी शिलान्यास किया जायेगा’

(प्रमोद खण्डूडी)

पौड़ी,उत्तराखण्ड़ के पौड़ी जनपद को पर्यटन के क्षेत्र में एक नई पहचान मिलेगी इसके लिए पौड़ी की अपनी ऐतिहासिक और सांस्कृतिक विरासत को संजोने के लिए जिलाधिकारी धीरजसिंह गर्ब्याल की पहल फलीभूत होने लगी है जिलाधिकारी इस कार्य के लिए सबको विश्वास में लेकर , सबसे सलाह मशविरा कर इस कार्य को अंजाम दे रहे है।
आज विकास भवन परिसर पौड़ी में अपर बाजार को हेरिटेज स्ट्रीट के रूप में विकसित करने हेतु व्यापार मण्डल के पदाधिकारी, स्थानीय व्यापारी एवं संबंधित अधिकारियों के साथ जिलाधिकारी ने बैठक की।

जनपद में पर्यटन को बढ़ावा देने हेतु जिलाधिकारी के एक के बाद एक अभिनव कार्य को लेकर उपस्थित सभी गणमान्य ने प्रसन्नचित भाव से धन्यवाद ज्ञापित किया। आर्किटेक रक्षित पाण्डे ने अपर बाजार में बनाये जाने वाले हेरिटेज स्ट्रीट के डिजाईन का अवलोकन कराने हुए होने वाले कार्यो की विस्तृत जानकारी दी। जिलाधिकारी ने कहा कि आगामी 28 फरवरी को प्रदेश के मा0 मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत के प्रस्तावित भ्रमण के दौरान हेरिटेज स्ट्रीट के विकास कार्य का भी शिलान्यास किया जायेगा।

जिलाधिकारी ने कहा कि पौड़ी शहर को पर्यटन के क्षेत्र में प्रदेश ही नहीं देश व दुनिया में अलग पहचान बनाने हेतु कार्य किया जा रहा है। जल्द ही अब अपर बाजार को हेरिटेज स्ट्रीट के रूप में विकसित किया जायेगा। जल्द ही टूरिज्म की जितनी योजनाएं हैं उन्हें लाॅच करवाया जायेगा। कहा कि सीएम घोषणा के तहत माॅल रोड़ का शिलान्यास, हेरिटेज स्ट्रीट का शिलान्यास किया जायेगा। कहा कि हेरिटेज स्ट्रीट पूरे इण्डिया में एक अलग ही स्ट्रीट के रूप में देखने को मिलेगी। काम शुरू हो चुका है और प्रथम चरण में 05 करोड़ की योजना है, जिसमें जिला योजना, डेवल्पमेंट अथारिटी व नगर पालिका से धनराशि व्यय किया जायेगा, जिसके लिए जिला योजना से लगभग 02 करोड़ जारी किया गया है। शीघ्र ही कार्य भी शुरू हो जायेगा। पुरानी जेल को भी म्यूजियम व हाट बाजार के रूप में पुराने आर्किटेक्ट को ध्यान में रखते हुए विकसित करने की योजना बनाई गई है।

उन्होंने कहा कि नये कलेक्ट्रेट भवन में वाहन पार्किंग, लोगों के बैठने के लिए गार्डन बनाने की कार्य योजना/डिजाईन तैयार किया गया है। वहीं पुराने कलेक्ट्रेट भवन को रिस्टोर करने की योजना है, वह भी एक हेरिटेज बिल्डिंग होगी। कहा कि चैथे चरण में धारा रोड़ को भी अपर बाजार की तर्ज पर हेरिटेज रोड़ के रूप में विकसित करने की योजना है। शहर को अलग पहचान दिलाने के लिए जितनी भी रोड़ हैं, उनमें अलग-अलग रूप में विकसित किया जायेगा, जैसे कि टेका रोड़ को चैरी ब्लासम लेन के रूप में, देवप्रयाग रोड़ को मेपल रोड़ के रूप में विकसित कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पुराने कलेक्ट्रेट भवन को रिस्टोर करने, नये कलेक्ट्रेट भवन में 40 छोटे वाहन पार्किंग, सिटिंग पार्किंग एवं फूड पार्किंग आदि नये-नये कार्य किये जाने की प्लानिंग की जा रही है। कहा कि सड़क के दोनो ओर वुडन आर्ट वर्क लकड़ी की रैलिंग और भवनों के बाहर आगे की ओर पटाल व ग्रेनाइट लगाई जायेगी।

साथ ही स्ट्रीट लाइट लगाने, दुकानों के नाम लकड़ी के बोर्ड पर अंकित करने, बिजली, पानी व सीवर लाइन अंडरग्राउंड किये जाने की योजना है। कहा कि लीग से हटकर पारम्परिक शैली में निर्माण कार्य करने से टूरिस्ट आकर्षित होगा और पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा तथा स्थानीय स्तर पर आर्थिकी बढ़ेगी। रामलीला ग्रांउड के पास ओपन व्यू बनाया जायेगा, जिससे हिमालय के दर्शन होगें।
इस अवसर पर उपजिलाधिकारी एस.एस.राणा, जिला पर्यटन अधिकारी खुशाल सिंह नेगी, अधि.अधि.नगरपालिका पौड़ी प्रदीप बिष्ट, अध्यक्ष व्यापार मण्डल पौड़ी देवेन्द्र रावत, सचिव अनूप देवरानी, कोषाध्यक्ष कुलदीप गुसांई सहित स्थानीय व्यापारी एवं संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।