महामारी मानसिक स्तर पर भी परेशानी पैदा करती है: चौहान

हरिद्वार 20 अगस्त (कुल भूषण शर्मा) गुरूकुल कांगडी विश्वविद्यालय के शारीरिक शिक्षा एवं खेल विभाग के असिस्टेंट प्रोफेसर डा0 शिवकुमार चौहान  ने कोविड-19 संक्रमण से बचाव पर मनोवैज्ञानिक सुझाव देते हुए कहा कि कोरोना महामारी के काल में यह बात सिद्ध हो गई है कि महामारी जितना शरीर तथा महत्वपूर्ण अंगों पर प्रभाव डालती है उससे दोगुने अनुपात मे मानसिक स्तर पर भी परेशानिया पैदा करके शारीरिक एवं मानसिक एकता को प्रभावित करती है।

गुरू तेग बहादुर हास्पिटल तथा यूनिवर्सिटी कालेज आफ मेडिकल साइंसेंजदिल्ली के संयुक्त तत्वावधान मे 19 तथा 20 अगस्त को आयोजित दो दिवसीय इन्टरनेशनल ई-कान्क्लेव के उदघाटन सत्र पर आयोजित विशेषज्ञों के व्याख्यान के अवसर पर व्यक्त किये।

कार्यक्रम का उदघाटन लोकसभा सांसद एवं पूर्व दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी द्वारा किया गया। विशिष्ट अतिथि पदमश्री एवं कार्डियोलाजिस्ट डा0 के0 के0 अग्रवालस्वर्णिम गुजरात यूनिवर्सिटी के वाइस चान्सलर एवं द्रोणाचार्य अवार्डी प्रो0 अर्जुन सिंह राणा तथा संस्थान के डायरेक्टर प्रो0 ए0के0 जैन ने कोविड-19 की निवारक तकनीक एवं जीवन शैली में सुधार के माध्यम से कोविड से बचाव के तरीके सुझाये। शारीरिक शिक्षा एवं खेल विभाग के असिस्टेंट प्रोफेसर डा0 अजय मलिक ने शारीरिक व्यायाम के साथ सर्किट एवं फार्टलेक ट्रेनिंग के माध्यम से शरीर की सामर्थ्य शक्ति बढाने के तरीके सुझाये।

इस अवसर पर अन्तर्राष्ट्रीय स्पोटर्स पर्सनलिटी क्रिकेटर चेतन शर्माअशोक ध्यान चंदइन्टरनेशनल विकिट कीपर सुरेन्द्र खन्नाकामनवैल्थ गोल्ड मेडलिस्ट दिनेश सिंह असवाल तथा पदमश्री एवं द्रोणाचार्य अवार्डी सुनील डबास आदि उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन आयोजन सचिव डा0 रंजन चक्रवर्ती द्वारा किया गया।