पहाड़ से संस्थानों को शिफ्ट करने पर तुली है सरकार

24

श्रीनगर गढ़वाल। श्रीनगर के पूर्व विधायक गणेश गोदियाल ने कहा कि भाजपा सरकार पहाड़ों से महत्वपूर्ण संस्थानों को शिफ्ट करना चाहती है। उन्होंने कहा कि एनआईटी शिफ्टिंग के मामले में सरकार लगातार झूठ बोलती रही। एनआईटी उत्तराखंड श्रीनगर से 600 छात्र-छात्राओं के जयपुर शिफ्टिंग के विरोध में शहर कांग्रेस कमेटी के तत्वावधान में यहां गोला बाजार में धरना, रैली एवं सभा का आयोजन किया गया।

पहले दिन मंच से एनआईटी किसी भी हाल में शिफ्ट नहीं होने दिए जाने की घोषणा की गई और दूसरे दिन एनआईटी शिफ्टिंग के आदेश करा दिए गए। उन्होंने सरकार की इस दोगली नीति को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया। गोला पार्क में आयोजित धरना-प्रदर्शन व सभा के दौरान गोदियाल ने कहा कि कांग्रेस का एनआईटी शिफ्टिंग के विरोध में कार्यक्रम लगातार जारी रहेगा। पूर्व कैबिनेट मंत्री राजेंद्र सिंह भंडारी ने कहा कि सरकार एनआईटी को दो कैंपसों में बांटकर तोड़ना चाहती है। कहा अभी 600 बच्चे ही सरकार की शह पर शिफ्ट हुए हैं, आगे पूरी एनआईटी को शिफ्ट होने में देर नहीं है। उन्होंने कहा कि पहाड़ के बच्चों के लिए भी जयपुर दूर है।

उन्होंने कहा पूरे प्रदेश में पूरी कांग्रेस इसके विरोध में उतरेगी। कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता प्रदीप तिवाड़ी ने कहा कि कांग्रेस ने श्रीनगर को शिक्षा का हब बनाया। लेकिन भाजपा एनआईटी जैसे संस्थान को यहां से शिफ्ट करने पर तुली हुई है। जिसका कांग्रेस द्वारा पुरजोर विरोध किया जाएगा। जिला पंचायत अध्यक्ष रूद्रप्रयाग लक्ष्मी राणा ने कहा कि पहाड़ के विकास के लिए यहां कांग्रेस की सरकार में सुमाड़ी में एनआईटी के लिए जमीन दी गई थी।

जिस पर एनआईटी का शिलान्यास भी कर दिया गया था। लेकिन भाजपा सरकार यहां एनआईटी बनाने के बजाय उसे शिफ्ट कर रही है। रूद्रप्रयाग की नगर पालिका अध्यक्ष गीता झिंक्वाण, कांग्रेस नगर अध्यक्ष भूपेंद्र पुंडीर ने कहा कि एनआईटी को शिफ्ट किया जाना दुर्भाग्यपूर्ण है। इस मौके पर कीर्तिनगर, रूद्रप्रयाग, देवप्रयाग, चमोली, पौड़ी आदि क्षेत्रों से पहुंचे कांग्रेस कार्यकर्ता मौजूद रहे।